उत्तराखंड के सरकारी अस्पतालों में मंहगा हुआ इलाज

देहरादून। प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में इलाज महंगा हो गया है। ओपीडी और भर्ती शुल्क आदि में बढ़ोतरी का शासनादेश जारी होने के बाद अब स्वास्थ्य महानिदेशालय ने भी इस बावत निर्देश जारी कर दिये हैं। इस बढ़ोतरी का असर गैर आयुष्मान कार्ड धारकों और बाहर से आने वाले मरीजों पर अधिक पड़ेगा। आयुष्मान कार्डधारकों को जहां जिला अस्पताल में ओपीडी शुल्क के रूप में 30 रुपये देने होंगे। वहीं, गैर आयुष्मान कार्ड धारकों के लिए यह शुल्क 60 रुपये हो गया है। जिला अस्पताल में भर्ती शुल्क भी बढ़ गया है। पहले भर्ती के लिए 30 रुपये लिए जाते थे, पर अब आयुष्मान कार्ड धारकों को भर्ती होने के लिए 100 रुपये और गैर आयुष्मान कार्ड धारकों को 240 रुपये देने होंगे। जनरल वार्ड में बेड की दरें सभी के लिए समान रूप से 50 रुपये रखी गई हैं। दो बेड वाला प्राइवेट वार्ड आयुष्मान कार्ड धारकों को 190 और गैर आयुष्मान कार्ड धारकों को 400 रुपये में मिलेगा। सिंगल बेड वाला वार्ड आयुष्मान कार्ड धारकों को 400 और गैर आयुष्मान कार्ड धारकों को 800 रुपये में मिलेगा। पहले इसकी दर 300 रुपये थी। एसी प्राइवेट वार्ड आयुष्मान कार्ड धारकों के लिए 600 और अन्य के लिए 1000 रुपये होगी। एसी रूम भी आयुष्मान कार्ड धारकों को 1200 और अन्य को 1600 रुपये का मिलेगा। इसके अलावा पैथालॉजी की दरों में 30 रुपये से लेकर 300 रुपये की बढ़ोतरी गई है। ब्लड कल्चर और यूरीन कल्चर की दरों को पहली बार शामिल करते हुए इसे 200 रुपये रखा गया है। यूपीटी की दरें 46 रुपये से बढ़ाकर 65 रुपये की गई हैं। वहीं, अल्ट्रासाउंड की कीमत अटल आयुष्मान कार्डधारकों के लिए 712 और अन्य के लिए 800 रुपये हो गई है। कोरोनेशन और गांधी नेत्र चिकित्सालय के सीएमएस डा. बीसी रमोला ने बताया कि बुधवार से मरीजों से शासनादेश के अनुरूप शुल्क लिया जाएगा।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *