इजरायल का सीरियाई आर्मी बेस पर मिसाइल अटैक

बेरुत। इज़राइल ने सीरिया के दक्षिण में एक सैन्य ठिकाने पर मिसाइल से हमला किया है। सीरिया की समाचार एजेंसी SANA ने बुधवार को कहा कि इजरायल के एक मिसाइल हमले ने सीरियाई सैन्य ठिकानों को निशाना बनाया। इन मिसाइलों को देश के दक्षिण में गोलान हाइट्स के करीब से निकाल दिया गया था, एक क्षेत्र जो इजरायल द्वारा कब्जा कर लिया गया था।SANA समाचार एजेंसी ने बुधवार को कहा, ‘इज़रायली दुश्मनों ने टाल अल-हारा इलाके में आधी रात के बाद ये सैन्य कार्रवाईयां की।’  यह कहते हुए कि संपत्ति को नुकसान की खबरें थीं। इन मिसाइल हमलों को पहले ब्रिटेन के सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स द्वारा “शायद इजरायल” के रूप में बताया गया था, जिन्होंने बाद में कहा कि दारा प्रांत में टाल अल-हारा, दमिश्क के दक्षिण में, और पड़ोसी प्रांत क्यूनिथरथ में दो क्षेत्रों को निशाना बनाया।सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स के निदेशक रामी अब्देल रहमान ने कहा, ‘हमले का जवाब देने के लिए सीरियाई सरकार की विमान-रोधी रक्षा को सक्रिय कर दिया गया है। सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स के मुताबिक, कुछ मिसाइलों को मार गिराया गया है, लेकिन दूसरों ने निशाने पर हिट किया।’ उन्होंने बताया कि इस हमले में कुछ लोगों की जान जरूर गई है, लेकिन कोई आंकड़ा नहीं बताया गया। इज़राइली हमलों ने पहले टाल अल-हारा को निशाना बनाया है जहां ऑब्ज़र्वेटरी के अनुसार, हिजबुल्लाह ने एक रडार सिस्टम स्थापित किया है और सीरियाई शासन ने विमानभेदी बैटरी बनाई है। जून के अंत में, दमिश्क के पास और इजरायल के मध्य प्रांत में इज़रायली हमलों में छह नागरिक और नौ समर्थक लड़ाके मारे गए थे। इज़रायल का कहना है कि वह अपने कट्टर दुश्मन ईरान को खुद को सीरिया में सैन्य रूप से घुसने से रोकने के लिए दृढ़ है, जहाँ तेहरान असद के शासन का समर्थन करता है। इज़राइल ने 2011 में संघर्ष की शुरुआत के बाद से सीरिया में सैकड़ों हवाई हमले किए, राष्ट्रपति बशर अल-असद और सरकार के सहयोगी ईरान और हिजबुल्लाह के प्रति वफादार  इन सुरक्षाबलों को निशाना बनाया जाता रहा है। सीरियाई संघर्ष में अबतक 3,70,000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *