उत्तराखंड के दो युवा ,लंदन के डर्बी में होने वाले निकाय चुनाव लड़ेंगे

देहरादून: लंदन में हो रहे निकाय चुनाव के लिए उत्तराखंड के दो युवाओं ने भी अपनी दावेदारी पेश की है। ये चुनाव 6 मई को हो रहे हैं। टिहरी के घनसाली ब्लॉक के जयप्रकाश जोशी डर्बी शहर के सिनफिन एंड ओसमसटॉन वार्ड और अल्मोड़ा के गौरव पांडे मैकवर्थ एंड मॉर्ले वार्ड से कंजर्वेटिव पार्टी के लिए काउंसलर पद के उम्मीदवार हैं।  दोनों युवा उत्तराखंड क्रांतिदल प्रवासी मोर्चा के सक्रिय सदस्य हैं और ब्रिटेन में गत पिछले चार सालों से कंजरवेटिव पार्टी जुड़े हुए हैं।  कंजरवेटिव ब्रिटेन की सत्तारुढ़ पार्टी है और निकाय चुनाव में उसकी स्थिति मजबूत बताई जा रही है।

अपने प्रचार में पार्टी ने जय और गौरव को मेहनती समुदाय से जुड़ा ऊर्जावान प्रत्याशी बताया है। जय का मुकाबला डर्बी लेबर पार्टी के लीडर के साथ है। सीट पर कुल चार प्रत्याशी हैं। जबकि गौरव का मुकाबला डर्बी के पूर्व मेयर के साथ है, उनके विपक्ष में पांच प्रत्याशी हैं। टिहरी के भिलंगना घनसाली के चाणी वासु गांव के जय प्रकाश जोशी ने लंदन से हिन्दुस्तान से फोन पर बातचीत में बताया कि वह करीब 17 साल से ब्रिटेन में हैं और यह उनका चौथा काउंसलर चुनाव है। डर्बी शहर के उनके वार्डों की वोटर संख्या करीब 15-15 हजार तक है। ब्रिटेन में काउंटी में हर वार्ड में तीन काउंसलर होते हैं जिनका कार्यकाल चार साल होता है।

लोगों का नजरिया बदलना चाहते
जय प्रकाश के मुताबिक, उत्तराखंड में लोग विदेशों में होटल रेस्टोरेंट में काम करने वालों को हेय नजर से देखते हैं। वह भी इन सवालों से गुजरे हैं और उनके मन में लोगों का नजरिया बदलने की ख्वाहिश थी। इसलिए वह डर्बी शहर में सामाजिक-राजनैतिक रुप से सक्रिय हुए। उनके कार्यों को देखते हुए कंजरवेटिव पार्टी ने उन्हें टिकट दिया है। उत्तराखंड में राज्य आंदोलन में भी शामिल हो चुके। गौरव ने बताया कि जब लंदन में ब्रेक्जिस्ट हुआ तो उन्होंने जयप्रकाश के साथ कॉमनवेल्थ राष्ट्रों के लिए ब्रिटेन में वर्क परमिट के लिए केम्पेनिंग की। विश्व युद्ध में भारतीयों ने ब्रिटेन के लिए युद्ध लड़ा, शहादतें दी, फिर भी उन्हें वर्क परमिट के लिए दौड़ना पड़ता, जबकि जिनके खिलाफ ब्रिटेन ने विश्व युद्ध लड़ा, वह आज आसानी से ट्रक में बैठकर भी ब्रिटेन आ सकते हैं। 
 
जय प्रकाश जोशी: शिक्षा श्री रघुवीर हाईस्कूल मुबंई, जीआईसी रामाश्रम जखोली, स्वामी रामतीर्थ कैम्पस पुरानी टिहरी से स्नातक, डर्बी कालेज ब्रूमफील्ड हॉल से हार्टीकल्चर में डिप्लोमा। ब्रिटेन में पहले रेस्टोरेंट में काम किया। पिछले 11 साल से एक निजी कंपनी में क्वालिटी ऑडिटर हैं। 

गौरव पांडे: गौरव 2005 में ब्रिटेन आए। अल्मोड़ा निवासी, केवी उधमपुर से 12 वीं, आईएचएम लखनऊ से होटल मैनेजमेंट, चकलास उर्दु विवि व चेल्सिया से स्नातक की पढ़ाई

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *