उत्तराखंड के 35 लोगों से फिरौती ले चुका है गैंगस्टर सुनील राठी, हरिद्वार पुलिस की जांच में हुआ खुलासा

crime

D.NEWS DEHRADUN माफिया डान मुन्ना बजरंगी की हत्या कर अपराध की दुनिया में हड़कंप मचाने वाले सुनील राठी ने अभी तक उत्तराखंड के 35 लोगों से फिरौती वसूल चुका है। इसके अलावा भी कई ऐसे लोग हैं, जिनसे राठी फिरौती ले चुका है। पुलिस जांच में इसका खुलासा हुआ है। पुलिस अब राठी की हर गतिविधियों पर नजर रखे हुए है। पुलिस राठी से संपर्क रखने वाले लोगों को तलाश रही है। उत्तराखंड और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अपराध जगत में सुनील राठी बड़ा नाम है। अपने पिता की हत्या के बाद उसने जुर्म की दुनिया में कदम रखा। इसके बाद एक-एक करके चार लोगों को मौत की नींद सुला दिया। पिछले साल सुनील राठी का नाम तब सुर्खियों में आया था, जब उसने रुड़की शहर के डॉक्टर एनडी अरोड़ा से पचास लाख की रंगदारी मांगी थी। बागपत जेल में बंद रहते हुए उसने डॉक्टर से अपनी मां तक इन पैसों को पहुंचाने के लिए कहा था। इसके बाद हरिद्वार पुलिस सुनील राठी को रिमांड पर लेकर आई। कोर्ट के आदेश पर उसे रुड़की जेल में ही रखा गया। पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए बागपत के टिकरी कस्बे से नगर पंचायत की पूर्व चेयरमैन और सुनील राठी की मां राजबाला को गिरफ्तार किया। राजबाला की निशानदेही पर पुलिस ने नारसन में एक व्यक्ति के ऑफिस के पीछे छुपाए गए 32 बोर के पिस्टल और चार कारतूस बरामद किए। बीते जुलाई माह में सुनील राठी ने बागपत जेल में मुन्ना बजरंगी की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी थी। उसके बाद ही राठी का गैंग हरिद्वार ही नहीं बल्कि उत्तराखंड का सबसे बड़ा गैंग बन गया। हरिद्वार पुलिस राठी के गैंग में शामिल एक-एक शूटर और अपराधियों पर निगाह गड़ाए हुए है।  राठी के गैंग के खात्मे के लिए एएसपी मनोज कत्याल को हरिद्वार पुलिस की ओर से जिम्मेदारी दी गई है। प्रारंभिक पुलिस जांच में यह बात सामने आई है राठी ने अभी तक उत्तराखंड के 35 लोगों से फिरौती वसूल चुका है। अधिकांश मामलों में राठी के खिलाफ मुकदमे भी दर्ज हैं। बागपत जेल में हुए मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद राठी की दिल्ली के सबसे बड़े डॉन नीरज बवाना से नजदीकियां बढ़ने की भी चर्चा है।  एएसपी मनोज कत्याल ने बताया कि हरिद्वार के कई लोगों से राठी रंगधारी ले चुका है।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *