उत्तराखंड: 42 दिन बाद खुले बाजार तो दिखी रौनक, शराब की दुकानों के आगे लगी लंबी लाइन

देहरादून: उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण की रफ्तार कमजोर पड़ने पर बुधवार को 42 दिन बाद बाजार खुले। सुबह आठ बजे से लेकर शाम पांच बजे तक बाजारों में ग्राहकों की भीड़ उमड़ी रही। गारमेंट्स, बर्तन, इलेक्ट्रानिक और मोबाइल की दुकानों में रौनक दिखी। हालांकि, कई ग्राहक मास्क पहनना और शारीरिक दूरी भूल गए।

प्रदेश में 28 अप्रैल से लगाए गए कोविड कर्फ्यू के चलते आवश्यक सेवाओं की दुकानों को ही खोलने के आदेश जारी किए गए थे। बुधवार को जब 42 दिन बाद सुबह आठ बजे जैसे ही बाजार खुलने शुरू हुए तो ग्राहकों का आवागमन भी शुरू हो गया।

सुबह दस बजे तक अधिकतर बाजारों में भीड़ थी। सबसे ज्यादा भीड़ कूलर, पंखे व एसी खरीदने वालों की रही। कपड़ों की दुकानों पर भीड़ नजर आई। 10 जून से सहालग का सीजन होने के कारण लोगों ने कपड़ों की खरीदारी की।

दूल्हा दुल्हन के कपड़ों के अलावा समारोह में शामिल होने के लिए महिलाओं व पुरुषों ने अपने लिए भी कपड़े खरीदे। वहीं महिलाओं ने कॉस्मेटिक के सामान की भी खरीदारी की। जूते-चप्पल की दुकान पर भी खरीदार नजर आए। 

कोविड कर्फ्यू के चलते शराब की दुकानों को भी बंद कर दिया गया था। 42 दिन बाद शराब के ठेके खुले तो लोग खरीदारी करने के लिए पहुंच गए। कई ठेकों पर आठ बजे से पहले ही लोगों की भीड़ जुट गई थी। दोपहर बाद तक लोग लंबी लाइन में लगे नजर आए।

दाल, आटा, मसाला, तेल खरीदने के लिए लोगों की किराना स्टोर पर भीड़ रही। सामान खरीदने के लिए आए लोगों से दुकानदारों ने पर्चे लेकर उनसे सामाजिक दूरी बनाने या फिर बाद में आने की अपील की। अधिकतर लोग पर्चे दुकानों पर छोड़कर चले गए। 

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *