Breaking News

उत्‍तरकाशी में किशोरी से दुष्‍कर्म और हत्‍या के मामले का हुआ खुलासा, एक आरोपित गिरफ्तार

उत्‍तरकाशी में किशोरी से दुष्‍कर्म और हत्‍या के मामले का हुआ खुलासा, एक आरोपित गिरफ्तार
डीआइजी गढ़वाल अजय रौतेल ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर उत्‍तरकाशी में किशोरी से दुष्कर्म और हत्या के मामले का खुलासा कर दिया। आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है।

D.NEWS DEHRADUN उत्तरकाशी, : चार दिन से चुनौती बने किशोरी से दुष्कर्म और हत्या के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। पुलिस ने टिहरी जिले के दीन गांव के रहने वाले मुकेश लाल उर्फ बंटी को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया। उस पर अपहरण, दुष्कर्म और  हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपित ने पूछताछ में अपना गुनाह स्वीकार कर लिया है। उसके कमरे से खून से लथपथ कपड़े और जूते भी बरामद कर लिए गए हैं। आरोपित के खून और सीमन के नमूने डीएनए जांच के लिए भेजे जा चुके हैं।

उत्तरकाशी में हुए बवाल और प्रदेश भर में चल रहे धरने प्रदर्शन के बीच पुलिस तत्परता से मामले की जांच में जुटी थी।  पुलिस महानिरीक्षक (आइजी) संजय गुंज्याल और पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआइजी) अजय रौतेला उत्तरकाशी में ही कैंप कर रहे थे। मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत में डीआइजी अजय रौतेला ने बताया कि आरोपित मुकेश लाल पास के ही एक अन्य गांव के प्रधान के खच्चरों की देखरेख करता है और वहीं एक कमरे में रहता है। उसका किशोरी के घर में काफी आना-जाना था। किशोरी की बड़ी बहन से भी मुकेश की फोन पर बातचीत होती रहती थी। डीआइजी ने बताया कि किशोरी के बड़ी बहन से पुलिस को पता चला कि कुछ दिन पहले मुकेश ने फोन पर उसे धमकी दी थी कि 17 अगस्त को वह उसे उठाकर ले जाएगा। भयभीत बड़ी बहन इससे पहले ही अपनी ननिहाल चली गई।

पुलिस के अनुसार 17 अगस्त की शाम को मुकेश लाल ने उत्तरकाशी जिला मुख्यालय से 22 किलोमीटर दूर डुंडा व देवीधार कस्बों में शराब पी। इसके बाद वह अपने कमरे में गया और खाना खाया। जब रात गहरा गई तो वह कमरे से निकला और किशोरी के घर जा पहुंचा। कुछ देर उसने बड़ी बहन की तलाश की। जब वह नजर नहीं आई तो छत पर पहुंचा और खंभे से घर तक आ रही बिजली की तार हटा दी। इसके बाद वह नीचे उतरा और गहरी नींद में सो रही किशोरी को कंधे पर उठा वहां से निकल गया।

 

पुलिस के अनुसार पूछताछ में मुकेश ने बताया कि अंधेरे में रास्ते में उसे ठोकर लगी। इससे किशोरी का सिर एक पत्थर से टकराया और खून निकलने लगा। किशोरी ने शोर मचाया तो उसने मुंह पर हाथ रख दिया। इससे वह बेहोश हो गई। गौरतलब है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण दम घुटना बताया गया है। इसके बाद उसने एक स्थान पर दुष्कर्म किया और उसे फिर से उठाकर सड़क की ओर बढ़ा। मुकेश ने बताया कि इस दौरान फिर उसका पैर फिसल गया और किशोरी फिर गिर गई। इससे उसके मुंह पर चोट भी आई व उसके कंधे और पैर पर भी हल्की चोट लगी है। जब मुकेश किशोरी को लेकर पुल पर पहुंचा तो उसे एहसास हुआ कि उसकी सांस नहीं चल रही। इसके बाद किशोरी को पुल पर छोड़ वह भागकर अपने कमरे में आ गया।

 

आसपास के लोगों ने बताया 18 अगस्त को किशोरी का शव मिलने पर वहां भीड़ एकत्र हुई और नारेबाजी करने लगी तो मुकेश भी वहां नारे लगाने वालों में शामिल था। सोमवार को पुलिस ने उसे देवीधार से गिरफ्तार कर लिया। मामले मे हिरासत में लिए अन्य छह लोगों को छोड़ दिया गया है।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *