एन एस एस दिवस के उपलक्ष में ‌ यूथ रेडक्रास द्वारा विशेष जागरूकता शिविर का आयोजन “



देहरादून: (देवभूमि जंसवाद न्यूज़) एन०एस०एस० दिवस के उपलक्ष में डीएवी इंटर कॉलेज में यूथ रेडक्रास कमेटी देहरादून द्वारा एक विशेष जागरूकता शिविर आयोजित किया गया।
डी ए वी इंटर कॉलेज के लाइब्रेरी हाॅल में आयोजित विशेष शिविर का उद्घाटन मुख्य अतिथि यूथ रेडक्रास कमेटी के चेयरमैन अनिल वर्मा , कार्यक्रम अध्यक्ष प्रधानाचार्य डाॅ० ए० के० श्रीवास्तव, विशिष्ट अतिथि श्री इशरत हबीब खान तथा एन० एस० एस० के जिला कोऑर्डिनेटर डी० आर० रवि द्वारा दीप प्रज्वलन से किया गया।
बतौर मुख्य वक्ता श्री अनिल वर्मा ने कोरोना, डेंगू बुखार, युवाओं में बढ़ते नशे की प्रवृत्ति पर रोक , स्वैच्छिक रक्तदान, एचआईवी / एड्स‌ तथा टी०बी० से बचाव पर विचार व्यक्त किए।
श्री वर्मा ने कोरोना की तीसरी लहर की आशंका से बचने तथा डेल्टा वैरिएंट से मुकाबला करने के लिए मास्क पहनने, हाथों को स्वच्छ रखने , सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने तथा टीकाकरण को बेहद जरूरी बताया।
डेंगू बुखार के कारण,लक्षण, उपचार की जानकारी देने के साथ ही घरों के आसपास गड्ढों आदि में पानी जमा न होने देने , मच्छरदानी तथा मच्छर भगाने की क्रीम का उपयोग करने की सलाह दी।
युवाओं में बढ़ते नशे की प्रवृत्ति पर गंभीर चिंता व्यक्त करते हुए श्री वर्मा ने छात्र-छात्राओं से अपने दोस्तों , सहपाठियों तथा अपने संपर्क में आने वाले लोगों से सतर्क रहकर किसी भी तरह के नशे से स्वयं व अपने साथियों को दूर रखने के साथ ही ड्रग पैडलर की सूचना गुप्त रूप से पुलिस को देने का अनुरोध किया।
रक्तदान -जीवनदान विषय पर बोलते हुए श्री वर्मा ने रक्तदान को समाज एवं मानवता की सेवा का सबसे सरल माध्यम करार देते हुए बताया कि उन्होंने स्वयं अब तक 139 बार रक्तदान किया है।
जहां एक ओर प्रत्येक 18 से 65 वर्ष का स्वस्थ पुरूष या महिला हर तीन माह में यानी साल में चार बार रक्तदान करके अनेक लोगों का जीवन बचा सकता है वहीं रक्तदाता को भी रक्तदान करने से अनेक लाभ होते हैं।
एच०आई०वी० तथा एड्स पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि एड्स जानलेवा है इसकी कोई दवा अब तक उपलब्ध नहीं है। अतः जानकारी ही इसका बचाव है। परन्तु हमें एड्स से घृणा करनी चाहिए न कि एड्स के रोगी से। उनसे दुर्व्यवहार करना अमानवीय कृत्य है।
टी० बी० को भयानक संक्रामक रोग बताते हुए श्री वर्मा ने कहा कि आज भी विश्व में एक चौथाई लोग टी०बी० रोग से ग्रस्त हैं। प्रत्येक तीन मिनट में दो लोगों की मौत इससे होती है। इसके लक्षणों को जानकर यथाशीघ्र ईलाज शुरू करने तथा डाॅट्स प्रणाली अपनाकर क्षय रोग से पूर्णतः मुक्ति मिल जाती है।
*राष्ट्रीय सेवा योजना के जिला समन्वयक डी आर रवि ने कहा कि छात्र छात्र-छात्राओं के लिए एन०एस०एस० समाज सेवा का सबसे सरल माध्यम है।
इसमें स्वच्छता अभियान, विभिन्न जागरूकता अभियान तथा श्रमदान से लेकर रक्तदान तक अनेकों प्रकार के साहित्यिक, सांस्कृतिक व सामाजिक गतिविधियों को आयोजित करने का मौका मिलता है, जो व्यक्तिव विकास में सहायक होता है।
कार्यक्रम में उपप्रधानाचार्य एस के सिंह, श्रीमती बबीता सहोत्रा , टीम लीडर शौर्य राणा,अलीशा अंसारी,नैना,न खुशी , आरती,मानवी,विवेक ध्यानी,वैभव शर्मा सहित स्वयंसेवी छात्र छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।
कार्यक्रम का संचालन रेडक्रास सोसायटी के वरिष्ठ सदस्य श्री इशरत हबीब खान तथा धन्यवाद ज्ञापन कु० मानवी द्वारा किया गया।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *