जीवन की पहली पब्लिक रिलेशन्स एक्सपर्ट माँ हैं

  • अतुल मलिकराम (लेखक और राजनीतिक रणनीतिकार)

देहरादून, (देवभूमि जनसंवाद न्यूज़) माँ.. एक शब्द में सारी दुनिया.. हमारे लिए जीने, हमें बिना शर्त के प्यार करने और समर्थन देने से लेकर हमारा मार्गदर्शन करने व उचित सलाह देने तक, आज हम जो कुछ भी हैं, उसे बनाने में और हमारे सफल जीवन को आकार देने में माताएँ एक ऐसी अमूल्य भूमिका निभाती हैं, जिसकी तुलना दुनिया की किसी भी ताकत से नहीं की जा सकती है।

पब्लिक रिलेशन्स कंसल्टेंट के रूप में मुझे 20 से अधिक वर्षों का अनुभव है। ऐसे में, मैं जानता हूँ कि एक माँ और पीआर एक्सपर्ट की भूमिकाएँ कितनी समान हैं। दोनों ही रेप्युटेशन को मैनेज करने, अपने आसपास के सभी लोगों से सकारात्मक संबंध बनाए रखने और कठिन परिस्थितियों को नेविगेट करने का काम बखूबी जानते हैं।

माताओं के पास अपने बच्चों को प्रोत्साहित करने, उन्हें सबसे श्रेष्ठ व्यक्ति के रूप में निखारने और हर स्थिति के अनुकूल ढालने की अनूठी क्षमता होती है। हमारी ऊँगली पकड़कर हमें चलना सिखाने से लेकर जीवन में तमाम उपलब्धियाँ हासिल करने तक, माँ हमारी मूल ब्रांड एंबेसडर हैं। वे बखूबी, यहाँ तक कि दुनिया में सबसे अच्छी तरह से जानती हैं कि हमारी ताकत को किस तरह उजागर करना है और हमारी कमजोरियों को किस तरह कम करना है। खास बात यह है कि इन सब में उनका कोई स्वार्थ नहीं होता, वे यह सब अटूट उत्साह और समर्पण के साथ करती हैं।

पब्लिक रिलेशन्स की दुनिया में भी ये ही सिद्धांत लागू होते हैं। अपने क्लाइंट्स के लिए एक सकारात्मक प्रतिष्ठा स्थापित करने और इसे हमेशा बनाए रखने के लिए पीआर कंसल्टेंट्स की भूमिका माँ के समान ही होती है। अपने क्लाइंट्स की कमजोरियों से पार पाकर, उनकी ताकत को उजागर करके पीआर कंसल्टेंट्स अपने क्लाइंट्स के साथ समर्पण भाव को बखूबी दर्शाते हैं। एक माँ की तरह, एक अच्छा पीआर कंसल्टेंट जानता है कि टारगेट ऑडियंस के साथ प्रतिध्वनित होने वाली बात और स्टोरीटेलिंग को कैसे आगे बढ़ाना है।

क्राइसिस मैनेजमेंट की स्थिति में माँ का कोई जवाब ही नहीं है। जब स्थितियाँ गलत राह पकड़ लेती हैं, तो वे बखूबी जानती हैं कि इन्हें शांत और स्थिर कैसे करना है। कुल मिलाकर उनके पास हर स्थिति से निपटने का हमेशा एक समाधान तैयार रहता है। किसी से झगड़ा हो गया हो या स्कूल से मिली हमारे लिए शिकायत, माँ के पास हर एक स्थिति को अनुकूलता से लेने और हमें आश्वासन की भावना प्रदान करने का एक शानदार तरीका होता है। कारण यह है कि नकारात्मक स्थिति में हमें कोई यह कहने वाले की जरुरत होती है कि तुम चिंता मत करो, मैं हूँ। और मुश्किल समय में साथ खड़ा रहने वाला यह शख्स माँ ही होती हैं।

ठीक इसी तरह, पीआर कंसल्टेंट्स भी अपने क्लाइंट्स की संकट की हर एक स्थिति में हमेशा साथ खड़े रहते हैं। चाहे वह प्रोडक्ट रिकॉल हो या स्कैंडल, एक अच्छा पीआर सलाहकार जानता है कि अपने क्लाइंट की प्रतिष्ठा को होने वाले नुकसान को कम करने के लिए जल्दी और प्रभावी तरीके से क्या और कैसे प्रतिक्रिया दी जाए। दबाव की अधिकता होने पर शांत रहना सबसे अच्छा विचार माना जाता है और अपने क्लाइंट की छवि को बहाल करने के लिए वे अथक प्रयास करते हैं।

माँ एक मूल पब्लिक रिलेशन्स एक्सपर्ट हैं, जो हमेशा अटूट प्रेम और भक्ति के साथ हमें बढ़ावा देती हैं और हर मुश्किल से हमारी रक्षा करती हैं। माँ के द्वारा मिलने वाला मार्गदर्शन, समर्थन और विशेषज्ञता हमें व्यक्तिगत और पेशेवर दोनों तरह से खुद का सर्वश्रेष्ठ संस्करण बनने में मदद करते हैं। पीआर भी अथक भावना से इस भूमिका को बखूबी अदा करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *