देहरादून: पंजाब के प्रॉपर्टी डीलर ने होटल के कमरे में लगाई फांसी, सुसाइड नोट में सामने आई वजह

 

डेमो
डेमो – फोटो : डेमो
D.NEWS DEHRADUN एक प्रॉपर्टी डीलर ने होटल के कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। होटल के कमरे से कुछ कीटनाशक और अन्य जहरीले पदार्थ भी मिले हैं। कमरे से एक सुसाइड नोट लिखी डायरी भी मिली है, जिसमें उसने पांच लाख रुपये की देनदारी की बात लिखी है। पुलिस प्रथमदृष्टया इसे कर्ज के कारण आत्महत्या मान रही है।

पुलिस के मुताबिक विक्रम भाटिया (47) पुत्र मेहरचंद भाटिया निवासी ग्रीन पार्क सिविल लाइंस लुधियाना देहरादून के कैनाल रोड पर रह रहे थे। लुधियाना में भाटिया परिवार कंस्ट्रक्शन कारोबार से ताल्लुक रखता है। बेटी को पढ़ाने के मकसद से विक्रम भाटिया 2011 में देहरादून में ही बस गए थे और यहीं पर काम करने लगे। उनकी पत्नी व बच्चे बाकी परिवार के साथ लुधियाना में रहते हैं। बताया जा रहा है कि यहां विक्रम भाटिया का काम बहुत अच्छा नहीं चल रहा था।

इसी कारण से वे परेशान रहते थे। सोमवार सुबह उन्होंने बेटी को स्कूल छोड़ा और घर वापस नहीं आए। स्कूल से लौटने पर जब पिता घर नहीं मिले तो बेटी ने पड़ोसियों के साथ उनकी तलाश की। इस बीच वे तलाश करते हुए होटल राजपुर हाइट्स के सामने पहुंची तो देखा कि वहां विक्रम की ऑल्टो कार खड़ी थी। बेटी ने रिसेप्शन पर जानकारी मांगी तो पता चला कि विक्रम भाटिया अंदर कमरे में ही हैं। उन्होंने रिसेप्शन पर मौजूद कर्मचारियों के साथ कमरा खोला तो देखा कि विक्रम फांसी पर लटके हुए थे।

किसके देने हैं पांच लाख?

vikram bhatiya
vikram bhatiya
सूचना पर एसओ राजपुर अरविंद चौधरी मय फोर्स मौके पर पहुंचे। इसके बाद फोरेंसिक टीम को भी बुला लिया गया। एसओ अरविंद चौधरी ने बताया कि कमरे में दो पैकेट कीटनाशक व एक अन्य जहरीले पदार्थ का पैकेट भी पड़ा हुआ था। एसओ ने बताया कि परिस्थितिजन्य साक्ष्यों को देखकर लग रहा था कि विक्रम भाटिया ने जहरीला पदार्थ भी कोल्डड्रिंक में मिलाकर पिया था। हालांकि, मंगलवार शाम आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मृत्यु का कारण हैंगिंग ही आया है। विसरा को जांच के लिए फोरेंसिक लैब भेजा जा रहा है। इसके साथ ही कमरे से मिली हर वस्तु को भी सील कर दिया गया है।

पत्नी से भी हुई बात
विक्रम ने सोमवार शाम को लुधियाना में अपनी पत्नी से भी फोन पर बात की थी। पत्नी ने जब बेटी के परेशान होने की बात कही तो विक्रम ने बैटरी डाउन होने का बहाना करते हुए फोन काट दिया। परिजनों से बातचीत के आधार पर पुलिस ने बताया कि वे काफी समय से परेशान चल रहे थे।

किसके देने हैं पांच लाख
प्रॉपर्टी डीलर ने डायरी में लाल रंग से लिखा है कि उसके ऊपर पांच लाख रुपये की देनदारी है। ऐसे में यह बात पुलिस के गले भी नहीं उतर रही है कि आखिर लुधियाना में इतने बड़े कंस्ट्रक्शन कारोबारी परिवार से ताल्लुक रखने वाला विक्रम भाटिया केवल पांच लाख रुपये की देनदारी के कारण आत्महत्या कैसे कर सकता है। हालांकि, पुलिस मामले की जांच कर रही है।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *