Breaking News

मुल्क की शांति को पढ़ी ईद की नमाज, केरल बाढ़ पीड़ितों को मदद अपील

मुल्क की शांति को पढ़ी ईद की नमाज, केरल बाढ़ पीड़ितों को मदद अपील
उत्तराखंड के सभी जिलों में त्याग और समर्पण का पर्व ईद-उल-अजहा (बररीद) उत्साह के साथ मनाया गया। केरल के बाढ़ पीड़ितों की मदद की अपील भी नमाजियों से की गई।

D.NEWS DEHRADUN : उत्तराखंड के सभी जिलों में त्याग और समर्पण का पर्व ईद-उल-अजहा (बररीद) उत्साह के साथ मनाया गया। ईदगाह के साथ ही मस्जिदों में ईद की नमाज पढ़ी गई। मुल्क की शांति के कामना के साथ ही केरल के बाढ़ पीड़ितों की मदद की अपील भी नमाजियों से की गई।

सुबह से ही देहरादून, हरिद्वार के साथ ही गढ़वाल और कुमाऊं के जनपदों की सड़कों पर ईदगाह जाने के लिए नमाजियों की भीड़ उमड़ने लगी। रातभर बारिश के बाद सुबह अधिकांश स्थानों में मौसम साफ रहा। इससे नमाजियों में भी खासा उत्साह देखा गया। हालांकि हर स्थान पर अलग-अलग समय पर नमाज अदा की गई।

देहरादून के चकराता रोड स्थित ईदगाह में सुबह नौ बजे शहर काजी मोहम्मद अहमद कासमी ने नमाज अदा कराई। इससे पहले तकरीर हुई। वहीं, शहर और देहात क्षेत्र में अलग-अलग मस्जिदों व ईदगाहों में नमाज अदा की गई।

इस मौके पर नायब सुन्नी शहर काजी सैयद अशरफ हुसैन कादरी ने कहा कि हमारे अंदर भी एक जानवर छिपा है, जो हमें गलत रास्ते पर ले जाता है। क्रोध, लोभ, ईर्ष्या आदि सभी बुराइयों की खान यही है। बकरीद पर हमें अपने भीतर छिपे जानवर की भी कुर्बानी देनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि नेकी की राह पर चलने वाले बंदे ही अल्लाह को पसंद होते हैं। कुरान-ए-पाक से मिलने वाले संदेशों को अपने जीवन में आत्मसात करने से अल्लाह खुश होते हैं। इस दौरान मुस्लिम समुदाय के लोगों ने अमन और खुशहाली के लिए दुआ मांगी। नमाजियों ने केरल आपदा पीड़ितों के लिए भी दुआ मांगी। साथ ही एक दूसरे को गले मिलकर बधाई दीं।

पुलिस-प्रशासन भी ईद को लेकर मुस्तैद रहे। शहर में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। कुर्बानियों का दौर जारी है। मुस्लिम कॉलोनी, यमुना कॉलोनी, पलटन बाजार स्थित मस्जिदों में भी अकीदत के साथ नमाज  पढ़ी गई।

बाढ़ पीड़ितों की मदद का ऐलान 

हरिद्वार में ईदगाह व मस्जिदों से केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद का ऐलान किया गया। यहां मदद के लिए रकम जुटाई जा रही है। ईदगाह और मस्जिदों में बाढ़ पीड़ितों के लिए खास दुआ भी कराई जा रही है। मस्जिदों व ईदगाहों में  नमाज के बाद लोगों से कुर्बानी के साथ-साथ केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद करने की अपील भी की गई। जिसके बाद बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए चन्दा इकट्ठा किया गया। जमीयत उलेमा ए हिन्द की मार्फत यह रकम केरल बाढ़ पीड़ितों तक पहुंचाई जाएगी।

नैनीताल में जामा मस्जिद के इमाम ने अदा कराई नमाज 

सरोवर नगरी नैनीताल में ईद उल जुहा की नमाज मल्लीताल फ्लैट्स मैदान पर अदा की गई। जामा मस्जिद के इमाम द्वारा तकरीर की गई। इस दैरान मुल्क व कौम की तरक्की के लिए दुआ मांगी गई। दूसरे समुदाय के लोगों ने फ्लैट्स मैदान पहुंचकर मुस्लिम समुदाय को ईद की बधाई दी है।

कुर्बानी को लेकर हाईकोर्ट के ताजा आदेश के बाद बाजार में बकरों की नुमाइश कम नजर आ रही है। इधर हाईकोर्ट के आदेश के अनुपालन में प्रशासन ने सार्वजनिक स्थान में कुर्बानी पर रोक लगाने के लिए संवेदनशील स्थानों पर राजस्व कर्मी व पुलिस तैनात की है।

संयुक्त मजिस्ट्रेट अभिषेक रुहेला ने बताया कि रजा क्लब, तल्लीताल, रॉयल होटल कम्पाउंड समेत अन्य स्थानों में टीमें गश्त कर रही हैं। गलियों, नालियों में किसी भी तरह कुर्बानी का रक्त ना बहे, इसके लिए पालिका टीमों को तैनात किया गया है।

नमाज स्थल पर शांति व्यवस्था के मद्देनजर मजिस्ट्रेट समेत पुलिस अधिकारी व पुलिस फोर्स तैनात की गई। पर्व को लेकर मुस्लिम समुदाय में उत्साह है।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *