राजकीय शिक्षक संघ ने आंदोलन वापस लिया, सरकार के बाद हाईकोर्ट के सख्त रूख को भांप कर लिया निर्णय

D.NEWS DEHRADUN आंदोलन पर सरकार के बाद हाईकोर्ट के भी रूख को सख्त देख राजकीय शिक्षक संघ ने आंदोलन वापस ले लिया। गुरूवार की दोपहर  संघ अध्यक्ष केके डिमरी और महामंत्री डॉ. सोहन सिंह माजिला ने शिक्षा निदेशक आरके कुंवर को आंदोलन वापस लेने का पत्र सौंप दिया। हालांकि प्रांतीय महामंत्री ने शिक्षा सचिव भूपिंदर कौर औलख से मुलाकात कर कुछ न कुछ घोषणा कर देने की गुजारिश की। लेकिन औलख ने भी हाईकोर्ट का मामला बताते हुए हाथ खड़े कर दिए।

शाम जरूर शिक्षकों को कुछ राहत महानिदेशक-शिक्षा कैप्टेन आलोक शेखर तिवारी से मिली। जिस वक्त शिक्षक नेता आंदोलन समाप्त करके जा रहे थे, ठीक उसी वक्त कैप्टेन तिवारी वहां आ गए। उन्होंने कहा कि शिक्षक निराश न हों। विभाग और सरकार उनकी मांगों को हल करने के लिए लगातार कार्यवाही कर रहे हैं। विभाग शिक्षकों के साथ है और उनकी जायज मांगों पर कार्यवाही की जाएगी। इस मौके पर गढ़वाल मंडल के प्रांतीय उपाध्यक्ष मुकेश प्रसाद बहुगुणा, गढ़वाल अध्यक्ष रविंद्र राणा, कोषाध्यक्ष अनुज चौधरी, संयुक्त मंत्री योगेश घिल्डियाल, संरक्षक शिव सिंह नेगी,  जसपाल गुसांई, दून के जिला मंत्री नागेंद्र पुरोहित, अंजु शर्मा, ब्रजेश पंवार आदि भी मौजूद रहे।

राजकीय शिक्षक संघ के अध्यक्ष केके डिमरी ने बताया कि माननीय हाईकोर्ट की भावनाओं के अनुसार हमने अपना आंदोलन वापस लेने का निर्णय किया है। शिक्षकों को पूरी उम्मीद है कि शिक्षकों के रोष को देखते हुए सरकार अवश्य हमारी मांगों पर जरूर कार्रवाई करेगी।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *