लुटी गयी पुलिस से AK 47 राइफल कहां से हुई बरामद, क्यों फरार है आरोपी अभी तक

प्रतीकात्मक तस्वीर

देहरादून : बीते शुक्रवार को पीलीभीत में नानकमत्ता और यूपी पुलिस ने उत्तराखंड पुलिस की लूटी गयी एके 47 राइफल बरामद कर ली है। हालांकि, राइफल लूटकर भागने वाला इनामी हत्यारोपी और उसके बेटे पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ सके। मामले में आरोपी के खिलाफ पुलिस टीम पर जानलेवा हमले, लूट का मुकदमा दर्ज कराया गया है। नानकमत्ता थाने में वर्ष 2018 में पत्नी की हत्या के आरोप में जसवंत सिंह उर्फ जस्सा निवासी राघवपुर, हजारा पीलीभीत यूपी पर मुकदमा दर्ज हुआ था। लगातार फरार रहने पर उस पर 2500 का इनाम घोषित है। बीते शुक्रवार को पीलीभीत में लोकेशन ट्रेस होने पर नानकमत्ता से एसआई जितेन्द्र सिंह के नेतृत्व में पुलिस टीम ग्राम वीरखेड़ा, पुलिस चौकी रमनगरा थाना माधोटांडा जिला पीलीभीत गयी थी।

वहां दबिश के दौरान पुलिस की जसवंत और उसके बेटों से मुठभेड़ हो गयी। इसी बीच आरोपी पुलिसकर्मी के हाथ से एके 47 रायफल छीनकर खेतों की ओर भाग गये। सूचना मिलते ही नानकमत्ता एसओ कमलेश भट्ट भी फोर्स लेकर देर रात पीलीभीत पहुंचे। इसके बाद यूपी और नानकमत्ता पुलिस ने कम्बोजनगर, माधोटांडा के जंगल में आरोपियों की तलाश में कांबिंग की। शनिवार देर रात जंगलों में एके 47 बरामद कर ली गयी, लेकिन जसवंत सिंह और उसके बेटे नहीं पकड़े जा सके।

नानकमत्ता एसओ कमलेश भट्ट ने बताया कि एके 47 रायफल माधोटांडा थाने में जमा करायी गयी है। थाना माधोटांडा में जसवंत सिंह व अन्य के खिलाफ धारा 353, 307, 394 के तहत मुकदमा कायम किया है। बताया कि जसवंत सिंह के खिलाफ थाना माधोटांडा यूपी में हत्या, जान से मारने की धमकी और 25 आर्म्स एक्ट में मुकदमे हैं। टीम में एसओ के अलावा एसएसआई नवीन बुधानी, प्रकाश हेमचंद्र, एसओ माधोटांडा उमेश कुमार सोलंकी, चौकी प्रभारी कम्बोजनगर संजय कुमार शामिल रहे।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *