साहसिक खेलों के लिए उत्तराखंड में बनेगा अलग निदेशालय

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उत्तराखंड में साहसिक खेल गतिविधियों के लिए अलग निदेशालय बनाए जाने की घोषणा की है। कहा कि सरकार साहसिक खेल गतिविधियों बढ़ावा देने के लिए अलग से निदेशालय बनाने जा रही है। इस निदेशालय की जिम्मेदारी अखिल भारतीय सेवा के अधिकारी को सौंपी जाएगी। उन्होंने कहा कि निदेशालय के लिए सरकार जमीन तलाश रही है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पत्रकार वार्ता में कहा कि सरकार देश का सबसे बड़ा ट्यूलिप गार्डन पिथौरागढ़ में बनाने जा रहा है, जो 50 हेक्टेयर भूमि में 50 करोड़ की लागत से तैयार किया जाएगा। कहा कि देश में एकमात्र ट्यूलिप गार्डन जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में स्थित है। इस एक हेक्टेयर के गार्डन में मात्र दो माह ही फूल खिले रहते हैं। पिथौरागढ़ के गार्डन में वर्ष में आठ माह फूल खिले रहेंगे। सरकार गार्डन के घेरबाड़ को लेकर जल्द ही धनराशि जारी कर, निर्माण कार्य शुरू कर लेगी। उन्होंने कहा कि सरकार टिहरी झील में तीन जुलाई को एमओयू साइन होने के बाद जल्द ही सी-प्लेन उतारने जा रही है उन्होंने कहा कि कहा कि पहाड़ी जिलों में पर्वतारोहण, ट्रैकिंग, रॉक क्लाइविंग, स्नो स्कीइंग, एंगलिंग, जीप सफारी, राफ्टिंग, पैराग्लाइडिंग, बंगी जंपिंग आदि साहसिक खेलों में स्वरोजगार से स्थायी रोजगार की अपार संभावनाएं हैं। पांच करोड़ के घपले व जिला युवा कल्याण विभाग में पांच लाख के रिश्वत के मामले में सीएम ने कहा कि इनकी जांच की जा रही है। इस अवसर पर उच्च शिक्षा मंत्री डा. धन सिंह रावत, विधायक लैंसडौन महंत दलीप सिंह रावत, पालिकाध्यक्ष यशपाल बेनाम, आयुक्त बीवीआरसी पुरुषोत्तम, जिलाध्यक्ष भाजपा शैलेंद्र सिंह बिष्ट आदि मौजूद रहे।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *