हाउस टैक्स की दरें 40 फीसदी तक बढ़ाए जाने के प्रस्ताव पर शहरवासियों ने किया जमकर विरोध

D.NEWS DEHRADUN हाउस टैक्स की दरें 40 फीसदी तक बढ़ाए जाने के विरोध में शुक्रवार को कई संगठनों ने नगर आयुक्त को ज्ञापन देकर आपत्ति दर्ज कराई। संगठनों ने कहा कि नगर निगम पहले मौहल्लों में सुविधाएं बढ़ाए और उसके बाद ही टैक्स बढ़ाने के बारे में सोचे। संगठनों ने कहा कि अगर टैक्स बढ़ाना भी है तो अधिकतम पांच फीसदी तक ही बढ़ाया जाए।
शुक्रवार को दून के विभिन्न संगठन से जुड़े लोग एक मंच में आकर नगर आयुक्त विजय कुमार जोगदंडे से मिले। उन्होंने टैक्स बढ़ाने के विरोध में आपत्तियां दर्ज कीं। संगठनों से जुड़े लोगों ने कहा कि दून नगर निगम भवनों के टैक्स में 40 फीसदी और खाली प्लाट में साठ फीसदी बढ़ोतरी करने जा रहा है, जो कि किसी भी तरह से ठीक नहीं है। ट्रेड यूनियन नेता जगमोहन मेंदीरत्ता ने कहा कि सुविधाओं के नाम पर नगर निगम की ओर से सफाई, स्ट्रीट लाइट आदि की सुविधा दी जाती हैं। दोनों की हालत ठीक नहीं है। हमारी मांग है कि पांच फीसदी से ज्यादा टैक्स न बढ़ाया जाए। साथ ही चार वर्ष की बजाय पांच वर्ष में टैक्स बढ़ना चाहिए। मौके पर रवींद्र जुगरान, समर भंडारी, प्रदीप कुकरेती, पीसी थपलियाल आदि मौजूद रहे। इस दौरान जन सेवा पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगराम सिंह ने आपत्ति दर्ज करते हुए कहा कि 40 से 60 फीसदी तक टैक्स बढ़ाना जनता का शोषण है। वर्षों से नगर निगम में कोई भर्ती नहीं हुई है। आबादी की तुलना में सफाई कर्मचारी काफी कम हैं।  अगर टैक्स बढ़ाना ही है तो पांच फीसदी तक ही बढ़ाया जाए। या फिर दरों को बढ़ाने का प्रस्ताव वापस लिया जाए। अगर प्रस्ताव के तहत टैक्स बढ़ा तो पार्टी आंदोलन करने में मजूबर होगी। इस दौरान हरि सिंह खोरवाल, देवेंद्र सैनी, अजय पाल, अनिता वाल्मीकि, अनिल क्षेत्री, अशोक कुमार, अवद्येश कुमार, अरशद, विपिन कुमार, सुनील कुमार, विनोद कुमार, मनजीत, जितेंद्र आदि मौजूद रहे।

हाउस टैक्स में बढ़ोतरी पर वार्डवार होगी सुनवाई 
हाउस टैक्स (गृह कर) में बढ़ोतरी के खिलाफ नगर निगम में आपत्तियां खूब आयी हैं। अब निगम की ओर से वार्डवार आपत्तियों का निस्तारण किया जाएगा। टैक्स अनुभाग को वार्ड के हिसाब से आयी आपत्तियां अलग-अलग करने के आदेश दिए हैं। जल्द आपत्तियों के निस्तारण के लिए वार्डवार तिथियां तय की जाएंगी। जिन लोगों ने आपत्ति दाखिल की है, उन्हें नियत तिथि पर बुलाया जाएगा। नगर निगम प्रशासन हाउस टैक्स में 40 फीसदी तक बढ़ोतरी करने का प्रस्ताव लाया है। इसके बाद निगम ने इनपर आपत्तियां मांगी थी। आपत्तियों के निस्तारण के बाद साफ होगा कि कितना फीसदी टैक्स निगम बढ़ाएगा। शुक्रवार को आपत्तियों को दर्ज करने का अंतिम दिन था। अंतिम तिथि तक कुल 350 आपत्तियां दाखिल हुई हैं। विभिन्न संगठनों और लोगों ने हाउस टैक्स में बढ़ोतरी का विरोध किया है। चूंकी हाउस टैक्स की दरें वार्डवार प्रस्तावित की हैं। इसलिए निगम शिकायतों को वार्डवार अलग कर सुनवाई करेगा। ऐसे में जिस वार्ड से अगर एक भी आपत्ति नहीं होगी तो वहां से लोगों को राहत मिलनी संभव नहीं है।

दून की सड़कों पर गड्ढे भरने का काम शुरू 
देहरादून की सड़कों पर जगह-जगह गड्ढों को भरने का काम लोनिवि ने शुरू कर दिया है। शुक्रवार को लोनिवि की टीम ने विभिन्न सड़कों में गड्ढे भरे। हालांकि, अभी भी काफी गड्ढे हैं, जो भरे जाने बाकी हैं। उधर, प्रशासन के आपदा नियंत्रण कक्ष के मुताबिक, ऋषिकेश तहसील के तहत गौहरीमाफी का जलस्तर अब सामान्य है। तहसील से 67 प्रभावितों में हरेक को 3800 रुपये के चेक दिए जा चुके हैं।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *