17 मई को खुलने हैं कपाट चारधाम यात्रा 2021, भगवान केदारनाथ की चल उत्सव विग्रह डोली धाम के लिए रवाना

This image has an empty alt attribute; its file name is dev...jpg

देहरादून: भगवान केदारनाथ की चल उत्सव विग्रह डोली शुक्रवार को धारा 144 के बीच ऊखीमठ में पंचकेदार गद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर परिसर से अपने धाम के लिए रवाना हो गई है। इस दौरान डोली के धाम पहुंचने के साथ ही धारा 144 स्वत: समाप्त हो जाएगी। डोली के साथ 28 लोगों का दल धाम जा रहा है। इसी तरह मां गंगा की डोली यात्रा उत्तरकाशी में मुखबा से शुक्रवार पूर्वाह्न 11:45 बजे भैरोंघाटी के लिए रवाना हो गई है। 15 मई को सुबह 7.30 बजे गंगोत्री धाम के कपाट खोले जाएंगे।  चारधाम यात्रा 2021 : अक्षय तृतीय पर आज विधि विधान से खोले जाएंगे यमुनोत्री धाम के कपाट, सबसे पहले प्रधानमंत्री की ओर से होगी पूजा

कोरोना संक्रमण के चलते पैदा हुई परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने 13 मई की शाम 5 बजे से 15 मई तक डोली के धाम पहुंचने तक धारा 144 लागू की है। उप जिलाधिकारी जितेंद्र वर्मा ने बताया कि ओंकारेश्वर मंदिर में होने वाली भैरवनाथ पूजा के दौरान 20 मीटर के दायरे में अन्य लोगों के प्रवेश पर रोक लगाई गई है।

साथ ही बाबा केदार की डोली के अपने धाम केदारनाथ प्रस्थान के दौरान सीमित लोगों के अलावा अन्य के प्रवेश पर 50 मीटर के दायरे में प्रतिबंध है। उन्होंने बताया कि केदारनाथ के लिए प्रशासन द्वारा देवस्थानम बोर्ड के 14 अधिकारी/कर्मचारी व 14 हक-हकूकधारियों को अनुमति दी गई है।

हक-हकूकधारी केदारनाथ डोली पहुंचाने के बाद वापस आ जाएंगे। भारत व राज्य सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के तहत सभी धार्मिक गतिविधियों का संपादन किया जाएगा। बताया कि धार्मिक आस्था के साथ कोरोना से बचाव के लिए जरूरी इंतजाम किए गए हैं।

20 कर्मचारी रोटेशन में देंगे ड्यूटी

देवस्थानम बोर्ड के कार्याधिकारी एनपी जमलोकी ने बताया कि कपाटोद्घाटन के बाद पूरे यात्राकाल में 20-20 कर्मचारी केदारनाथ में रोटेशन के तहत ड्यूटी देंगे। बताया कि कोरोना के चलते यात्रा स्थगित होने के कारण धाम में प्रतिदिन इन कर्मियों के द्वारा पूजा-अर्चना की व्यवस्था की जाएगी।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *