अरब सागर में एक साथ उठे दो चक्रवाती तूफान

नई दिल्ली। मौसम का मिजाज दक्षिण भारत में लगातार बदलता जा रहा है। मौसम विभाग ने बताया कि अरब सागर में एक अनोखी घटना घट रही है। दरअसल, अरब सागर में एक साथ दो चक्रवाती तूफान चल रहे हैं। मौसम विभाग ने कहा कि गंभीर चक्रवाती तूफान  महा की अगले 24 घंटों के दौरान पूर्वी-मध्य अरब सागर में एक ‘बहुत गंभीर’ चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की संभावना है। मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार को लक्षद्वीप में प्रतिकूल मौसम नहीं होगा क्योंकि चक्रवात उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ रहा है। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में लक्षद्वीप , केरल, तटीय कर्नाटक और तमिलनाडु के कुछ क्षेत्रों में भारी बारिश को लेकर चेतावनी जारी की है। मछुआरों को लक्षद्वीप क्षेत्र और उससे सटे दक्षिण-पूर्व अरब सागर में प्रवेश नहीं करने की सलाह दी गई है। वहीं, लक्षद्वीप के कलपेनी द्वीप पर गुरुवार भारी बारिश के काफी तबाही हुई। मौसम विभाग ने गुरुवार को ही मध्य अरब सागर और उससे सटे लक्षद्वीप क्षेत्र पर गंभीर चक्रवाती तूफान माहे को लेकर चेतावनी जारी की थी।अब मौसम विभाग ने कहा है कि गंभीर चक्रवाती तूफान माहे अगले 24 घंटों के दौरान पूर्व-मध्य अरब सागर में एक बहुत ही गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दील हो सकता है। मौसम विभाग के अनुसार लक्षद्वीप में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश होने की संभावना है वहीं, अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने भी हो सकती है। चक्रवाती तूफान माह को लेकर गृह मंत्रालय ने बुधवार को राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति की एक बैठक बुलाई थी। जिसमें तूफान से बचने को लेकर तैयारियों की चर्चा की गई थी। चक्रवात तूफान महा के कारण समुद्र की उथल-पुथल भरी परिस्थितियों के बाद कल यानी गुरुवार को समुद्र का पानी सड़कों तक आ गए और केरल के चेलांम, एर्नाकुलम स्थित घरों में भी पानी भर गया। मौसम विभाग ने पहले ही महा को लेकर दो दिन का अलर्ट जारी कर दिया था। केरल के छह जिलों में भी तूफान को लेकर येलो अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग ने कहा था कि यदि अरब सागर में चक्रवाती तूफान बनता है तो इसका नाम महा होगा। इससे पहले यहां तूफान  वायु, हिका और क्यार बन चुके हैं।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *