वॉलमार्ट और फ्लिपकार्ट भारत में छोटे व्यवसायों के विकास के लिए निरंतर पैदा कर रहे अवसर

आगरा । वॉलमार्ट ने आगरा में एक नया वृद्धि ई-इंस्टीट्यूट शुरू किया। इस प्रोग्राम के माध्यम से उत्तर प्रदेश में छोटे व्यवसाय ऑनलाइन और ऑफलाइन चैनलों जैसे फ्लिपकार्ट मार्किटप्ले्स अथवा वॉलमार्ट की अंतरराष्ट्रीय आपूर्ति श्रृंखला से जुड़ सकते हैं जिससे उन्हें महामारी के बाद के वातावरण में कौशल व दक्षता तक पहुंच विकसित करने में मदद मिलेगी।नए ई-इंस्टी्ट्यूट के साथ वॉलमार्ट अपने वृद्धि सप्लायर डेवलेपमेंट प्रोग्राम का विस्तार कर रहा है जो कि पूरे भारत में 50,000 एमएसएमई उद्योगों को सशक्त बनाएगा। यह कार्यक्रम एमएसएमई उद्योगों को आधुनिक व्यापार का लाभ उठाने के लिए विशिष्ट प्रशिक्षण प्रदान करता है ताकि वे फ्लिपकार्ट के ईकामर्स मार्केटप्लेस, फ्लिपकार्ट होलसेल की आपूर्ति श्रृंखला और वॉलमार्ट के ग्लोेबल सोर्सिंग ऑपरेशन्स  के साथ-साथ खुले बाजार के अवसरों का लाभ उठाने के लिए तैयार हो सकें।

उत्तर प्रदेश सरकार में एमएसएमई, निवेश व निर्यात, टेक्सटाइल,एनआरआई, खादी व ग्रामोद्योग विभागों के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा, हम वॉलमार्ट द्वारा वृद्धि प्रोग्राम के आगरा और उत्तर प्रदेश में विस्तार का स्वागत करते हैं। हमारे प्रदेश के एमएसएमई उनकी कलात्मकता व रचनात्मकता के लिए तथा उच्च गुणवत्ता वाली  विविध वस्तुओं को उपलब्ध करवाने के लिए, भारत व विदेशों में जाने जाते हैं। यह कार्यक्रम न केवल मेक इन इंडिया को प्रोत्साहित करेगा बल्कि इससे  हमारे एक जिला एक उत्पाद कार्यक्रम को भी बढ़ावा मिलेगा, साथ ही एमएसएमई उद्योगों को डिजिटल माध्मयों से अपनी  व्यवसायिक महत्वाकांक्षाओं व निर्यात-सक्षमता को बढ़ाने में मदद मिलेगी। पहला वृद्धि ई-इंस्टी्ट्यूट हरियाणा में अक्टूबर 2020 में खोला गया था यह पानीपत सोनीपत कुंडली क्षेत्र के उद्यमियों को प्रशिक्षण प्रदान करता है। इस क्षेत्र के उद्यमी बहुस्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग ले रहे हैं । उनमें से कुछ फ्लिपकार्ट के साथ जुड़कर अपनी डिजिटल क्षमताओं को बढ़ा रहे हैं व फ्लिपकार्ट मार्किटप्लेस के माध्यम से पूरे देश में अपना सामान बेच रहे हैं। ली हॉपकिन्स एक्जीक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट इंटरनेशनल स्ट्रेटजी डेवलेपमेंट एंड एशिया रीजन, वॉलमार्ट इंटरनेशनल के अनुसार, हमें पहले ई-इंस्टीटयूट् से काफी उत्साहजनक परिणाम मिले हैं और उत्तर प्रदेश के एमएसएमई उद्योगों ने इसमें गहरी रूचि दिखाई है। वॉलमार्ट व फ्लिपकार्ट अपनी लॉजिस्टिक्स व व्यवसाय संबंधी दक्षता के माध्यम से भारतीय कारीगरों व उद्यमियों की मदद कर रहे हैं तथा उन्हें भारत व विदेशों में ई-कॉमर्स के माध्यम से ग्राहकों तक पहुंचने में मदद कर रहे हैं। एमएसएमई उद्यमों के आगे बढ़ने से स्थानीय समुदायों में रोजगार के अवसर बढ़ते हैं और मेक इन इंडिया तथा डिजिटल इंडिया जैसे कार्यकर्मों को बढ़ावा देते हैं।” आदर्श मेनन, सीनियर वाइस प्रेजिडेंट व फ्लिपकार्ट होलसेल के प्रमुख, ने कहा “फ्लिपकार्ट का उद्द्येश उद्यमियों को पूरे भारत में अपने उत्पादों को बेचने में मदद करके, उन्हें समृद्ध बनाना है। वॉलमार्ट वृद्धि के माध्यम से अब हम इन्ही प्रयासों को बढ़ाएंगे, जिससे एमएसएमई उद्योगों और कारीगरों को एक विश्व स्तरीय प्रशिक्षण प्राप्त होगा। जो उन्हें अपनी आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए सशक्त बनाएगा।”

आगरा में वृद्धि ई-इंस्टी्ट्यूट प्रदेश के एमएसएमई उद्योगों को इंटरैक्टिव लर्निंग और उन्नत योग्यता-आधारित प्रशिक्षण देगा और साथ ही साथ उनके व्यापार से जुडी व्यक्तिगत सलाह भी दी जाएगी। पाठ्यक्रम को स्थानीय व्यवसायों की अनूठी चुनौतियों और अवसरों के लिए तैयार किया गया है और यह हिंदी और अंग्रेजी भाषा में उपलब्ध है। विशेष रूप से ई-इंस्टीट्यूट आगरा के प्रमुख फुटवियर विनिर्माण और पत्थर पर काम करने वाले कुशल कारीगरों और उद्यमियों को सशक्त बनाने पर ध्यान केंद्रित करेगा जिससे उनके बाजारों का विस्तार हो।

एमएसएमई उद्यमी अपनी व्यवसायिक यात्रा में किसी भी स्तर पर हों, वृद्धि उनके साथ काम करती है। उत्तर प्रदेश स्थित उद्यम वृद्धि के प्रशिक्षण कार्यक्रम में शामिल हो सकते हैं। उन्हें  फ्लिपकार्ट होलसेल और फ्लिपकार्ट के ऑनलाइन बाजार  पर उद्यम बढ़ाने के अवसर मिलेंगे।  वॉलमार्ट 2027 तक भारत से अपना निर्यात तीन गुना बढ़कार 10 बिलियन डॉलर करने वाला है, ऐसे में निर्यात की महत्वाकांक्षा रखने वाले उद्यम सीख सकते हें कि कैसे वॉलमार्ट के लिए ग्लोबल सोर्सिंग सप्लायर बनने की योग्यता हासिल की जाए और इस प्रकार श्मेक इन इंडिया उत्पादों को पूरी दुनिया में ले जाया जाए।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *