उत्तराखंड के नौ जिलों में मतदान बढ़ा, चार में घटा

देहरादून, देवभूमि जनसंवाद न्यूज़। 2022 के विधानसभा चुनाव में 2017 के मुकाबले नौ जिलों में मतदान प्रतिशत में बढ़ोतरी दर्ज की गई है, जबकि चार जिलों में गिरावट आई है। चमोली जिले में मतदान प्रतिशत में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी हुई है जबकि गिरावट वाले जिलों में ऊधमसिंह नगर पहले नंबर पर है। खास बात यह है कि इस बार भी महिलाओं ने पुरुषों के मुकाबले अपने मताधिकार का ज्यादा प्रयोग किया है।

2017 के चुनाव पर नजर डालें तो कुल 75 लाख 12 हजार 559 मतदाता थे, जिनमें से 49 लाख 24 हजार 993 ने मतदान किया था। इस बार कुल 81 लाख 72 हजार 173 में से 53 लाख 42 हजार 462 ने मतदान किया है। 2017 में 39 लाख 33 हजार 564 पुरुषों में से 24 लाख 44 हजार 759 यानी 62.15 प्रतिशत पुरुषों ने मतदान किया था।
इस बार 42 लाख 38 हजार 890 पुरुषों में से 26 लाख 53 हजार 642 यानी 62.60 प्रतिशत पुरुषों ने मतदान किया है। 2017 के चुनाव में 35 लाख 78 हजार 810 महिलाओं में से 24 लाख 80 हजार 218 यानी 69.30 प्रतिशत महिलाओं ने मतदान किया था। इस बार 39 लाख 32 हजार 995 महिलाओं में से 26 लाख 42 हजार 930 यानी 67.20 प्रतिशत महिलाओं ने मतदान किया है। पुरुषों के मुकाबले 4.6 प्रतिशत अधिक महिलाओं ने मतदान किया है।
2017 के मुकाबले 70 में से 35 पर घटा और 35 सीटों पर बढ़ा मतदान प्रतिशत
उत्तराखंड में इस बार के विधानसभा चुनाव में 2017 के मुकाबले 70 में से 35 विधानसभा सीटों पर मतदान प्रतिशत बढ़ा तो 35 सीटों पर घटा है। खास बात यह है कि जिन सीटों पर गिरावट आई है, उनमें बड़ी संख्या मैदानी जिलों की सीटों की हैं।

2017 चुनाव के सापेक्ष 2022 के चुनाव में मतदान प्रतिशत में गिरावट के नजरिए से देखें तो उत्तरकाशी में एक, टिहरी में दो, देहरादून में पांच, हरिद्वार में नौ, पौड़ी में तीन, पिथौरागढ़ में एक, बागेश्वर में एक, अल्मोड़ा में एक, नैनीताल में चार और ऊधमसिंह नगर में आठ विधानसभा सीटों पर इस बार गिरावट दर्ज की गई है।

चंपावत जिले में दो सीटें हैं, जिनमें इस बार बढ़ोतरी दर्ज की गई है। कुल मिलाकर देखें तो पर्वतीय जिलों में मतदान प्रतिशत में बढ़ोतरी हुई है जबकि मैदानी जिलों में मतदान प्रतिशत गिरा है। अब राजनीतिक विश्लेषक इसके अलग-अलग मायने निकाल रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *