लोकतंत्र के महापर्व में मुंबई जीती, कांदिवली में दिखा जबरदस्त जज्बा

D.J.S News Dehradun : मुंबई लोकतंत्र के महापर्व में कल मुंबई विजेता बनकर उभरी। आमतौर पर मुंबई में चुनाव के दिन बिल्डिंगों में रहनेवाला अधिकांश अभिजात्य वर्ग वोट देने की अपेक्षा छुट्टियों में बाहर घूमना-फिरना ज्यादा पसंद करता है, जिससे वोटिंग कम होती है। मगर कल कुछ अभिजात्य क्षेत्र का नजारा अलग दिखा और वहां बूथ पर कतारें दिखीं। मुंबई, ठाणे, पालघर, कल्याण आदि के विभिन्न इलाकों के बूथ पर सुबह से ही लोगों की कतारें लगनी शुरू हो गई थीं। भारी गर्मी व उमस के बावजूद दोपहर में भी लाइन घटने का नाम नहीं ले रही थी। यहां मतदाताओं का उत्साह देखते बनता था। अधिकांश लोगों का कहना था कि उनका वोट देश की मजबूती को समर्पित है और इसलिए वे गर्मी व उमस के बावजूद वोट देने आए।
कल मुंबई के अधिकांश इलाकों में लंबी कतारें देखने को मिलीं, इसमें कांदिवली में जबरदस्त जज्बा दिखा। कांदिवली (पश्चिम) के महावीरनगर स्थित कपोल हाईस्कूल में तो दोपहर में हालत ऐसी थी कि वहां करीब डेढ़ किमी तक लंबी लाइन लग गई। हालत यह हो गई थी कि कई लोग 2 से 3 बार वापस बूथ पर आए। शाम ५ बजे के करीब आए एक वोटर सुभाष द्विवेदी ने बताया कि वह तीसरी बार वोट देने आए हैं। सुनीता गुप्ता नाम की वोटर ने बताया कि वह साढ़े 11 बजे आई थी और डेढ़ घंटे बाद वापस चली गई थी। दूसरी बार वह 4 बजे आई। इसी तरह प्रिया श्रॉफ व आशीष श्रॉफ सुबह एक घंटे तक कतार में लगे रहने के बाद वापस लौट गए थे। शाम को फिर वोट देने आए। इसी तरह टीना डी गोगरी नाम की वोटर दो बार निराश होकर लौट गई । शाम को तीसरी बार उन्हें वोट देने में सफलता मिली। हालांकि इस स्कूल में शाम ६ बजे तक जितने भी वोटर पहुंचे, सबको मुख्य द्वार के भीतर लेकर वोट देने दिया गया।

छुट्टियों का लुत्फ
मुंबईकरों के बारे में कहा जाता है कि छुट्टियों में लुत्फ उठाने का कोई मौका वे चूकते नहीं। इस बार भी वीकेंड के बाद सोमवार को वोटिंग की छुट्टी का उन्होंने फायदा उठाया। आज मंगलवार को जिन लोगों ने अपने दफ्तरों से छुट्टी ले ली, उन्हें कल 1 मई की छुट्टी भी मिल गई। इस तरह 5 दिनों की छुट्टी मिलने के बाद भला मुंबई में कोई रुककर क्या करता? सो ऐसे लोग तफरीह के लिए लोनावला, गोवा, महाबलेश्वर आदि निकल गए। इस तरह कुछ क्षेत्रों में मतदान पर इसका असर पड़ा।

मशीन खराब
कांदिवली के कपोल स्कूल में दोपहर के वक्त मशीन के बिगड़ने की खबर भी आई। इसके साथ ही वहां कुछ बूथ पर वोटर्स की 2 -2 लिस्ट आने की खबर थी, जिससे मतदान में देरी होने की बातें कही जा रही थीं। हालांकि वहां वोटर्स यह कहते भी सुने गए कि दोपहर में मतदान कर्मचारियों के लंच और अकुशलता आदि के चक्कर में देरी हुई।

फर्स्ट टाइम वोटर्स
मुंबई में कल फर्स्ट टाइम वोटर्स के बीच भारी उत्साह नजर आया। 18 की उम्र पार करनेवाले युवा वर्ग को पहली बार वोट देने का अधिकार मिला था। वोट देने के बाद सेल्फी लेकर उसे सोशल मीडिया में पोस्ट कर लोकतंत्र के इस सबसे बड़े पर्व में अपनी सहभागिता को मानो वे हमेशा के लिए यादों में संजो लेना चाहते थे।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *