डेढ़ सौ से अधिक कंपनियों में सेलाकुई में उत्पादन शुरू

देवभूमि जनसंवाद न्यूज़ देहरादून : औद्योगिक क्षेत्र सेलाकुई स्थित डेढ़ से से अधिक कंपनियों में सोमवार से उत्पादन शुरू हो गया है। लेकिन कंपनियों में उत्पादन शुरू होने के बावजूद कंपनियों ने महज तीस से चालीस फीसदी कर्मचारियों को काम पर बुलाया है। अधिकांश श्रमिक और कर्मचारी अब भी घरों में खाली हाथ बैठे हैं। काम पर न बुलाये जाने से खाली बैठे श्रमिकों में अपने रोजगार को लेकर बेचैनी बढ़ गयी है। उन्हे नौकरी से हटाये जाने व दो जून की रोटी का डर सता रहा है।

ऑल इंडिया इंडस्ट्री एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने बताया कि औद्योगिक क्षेत्र सेलाकुई में तीन सौ से भी अधिक कंपनियां हैं। जिनमें फार्मा कंपनियों ने लॉकडाउन शुरू होने के दो तीन दिन बाद से ही उत्पादन शुरू कर दिया था। लेकिन अन्य कंपनियां बंद पड़ी थी। लॉकडाउन तीन शुरू होने के साथ ही राज्य सरकार ने कंपनियों को खोलने की अनुमति दे दी है। जिसके बाद सोमवार को लॉकडाउन तीन शुरू होने के साथ ही सेलाकुई स्थित साठ प्रतिशत से अधिक कंपनियों में उत्पादन शुरू हो गया है। लेकिन कंपनियों ने भले ही उत्पादन शुरू कर दिया है। लेकिन उत्पादन काफी कम मात्रा में शुरू किया गया है। कंपनियों ने काम पर भी तीस से चालीस प्रतिशत कर्मचारियों को बुलाया है। साठ प्रतिशत से अधिक श्रमिक अब भी अपने किराये के कमरों पर खाली हाथ बैठे हैं।

कर्मचारियों ने बनाई रखी सोशल डिस्टेंसिंग

कंपनियों में उत्पादन शुरू करने के साथ ही सरकार ने जो गाइड लाइन कंपनियों को दी हैं पहले दिन सभी कंपनियां उनका पालन करती हुई नजर आयी। पहले दिन कंपनियों के गेट पर सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा असर रहा। कर्मचारी एक-एक मीटर की दूरी पर गेट इंट्री के लिए अपना इंतजार करते रहे। इसके अलावा इंट्री करते ही श्रमिकों की स्वास्थ्य जांचा गया।

कंपनियों से उत्पादित माल जिन बड़े बाजारों में जाता है वे बाजार बंद हैं। जिससे उत्पादित माल के निर्यात के लिए बाजार उपलब्ध नहीं है। कंपनियों के पास कच्चा माल नहीं है। जिससे कम स्तर पर उत्पादन शुरू किया गया है। इसलिए अभी सीमित श्रमिकों को ही काम पर बुलाया गया है। आयात- निर्यात शुरू होते ही सभी श्रमिकों को काम दिया जाएगा।

लतीफ चौधरी, उपाध्यक्ष ऑल इंडिया इंडस्ट्री एसोसिएशन।

कंपनियों के पास कच्चे माल की काफी कमी है। जिससे कम उत्पादन कम किया जा रहा है। सरकार के दिशा निर्देशों के अनुसार सोशल डिस्टेंस का भी पालन करना है। इसलिए सीमित कर्मियों को बुलाया गया है। सभी श्रमिकों को काम पर बुलाया जाएगा लेकिन अभी समय लगेगा।

जितेंद्र कुमार, अध्यक्ष इंडस्ट्री वेल्फेयर एसोसिएशन।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *