लाॅकडाऊन के दौरान अमेज़न डिलीवरी के बारे में भ्रांतियां : सत्य व विवरण

देवभूमि जनसंवाद न्यूज़ देहरादून : देश सोशल डिस्टैंसिंग का पालन कर रहा है। अपना जरूरी सामान घर पर मंगवाने के लिए लोग ई-काॅमर्स का उपयोग कर रहे हैं। एक शहर के बाद दूसरे में सेवाएं बहाल करते हुए फुलफिलमेंट नेटवर्क के सहयोगी ग्राहकों को घर पर सुरक्षित रहने में मदद करने के लिए आगे आए हैं। संकट के इस समय में, अमेज़न ने अपने स्थानों पर प्रिवेंटिव हाईजीन के अनेक उपाय लागू किए हैं, जिससे सहयोगी डिलीवरी पार्टनर्स एवं ग्राहकों को सुरक्षित रखने में मदद की जा सके।
हालांकि अमेज़न डिलीवरी के बारे में अनेक भ्रांतियां चल रही हैं। उनमें से कुछ के बारे में सच्चाई नीचे दी गई है।

  1. भ्रांति: ‘‘लाॅकडाऊन के दौरान आॅनलाईन आॅर्डर सुरक्षित नहीं’’
    सच्चाई: अमेज़न ने ग्राहकों को उनके पैकेज पहुंचाते हुए ग्राहकों व डिलीवरी सहयोगी की सुरक्षा व स्वास्थ्य सुनिश्चित करने के लिए अपनी प्रक्रिया में अनेक परिवर्तन किए हैं। मार्ग की शुरुआत व अंत में, डिलीवरी सहयोगी अपने वाहनों एवं डिलीवरी डिवाईसेस की सभी सतहों को साफ करते हैं। डिलीवरी सहयोगी नियमित रूप से कम से कम 20 सेकंड के लिए अपने हाथ साबुन और पानी से धोते हैं या फिर अल्कोहल-आधारित हैंड सैनिटाईज़र या क्लीनिंग एजेंट का उपयोग करते हैं। इसके अलावा अमेज़न ने सभी डिलीवरी सहयोगियों को यदि अस्वस्थ महसूस हो या उन्हें बुखार हो, तो उन्हें घर पर रहने का सख्त नियम बना दिया है। इसलिए आपकी अमेज़न डिलीवरी सुरक्षित है।
  2. भ्रांति: ‘‘दरवाजे पर डिलीवरी सहयोगी से पैकेज लेने में खतरा है’’
    सच्चाई: अमेज़न अपने ग्राहकों व सहयोगियों के स्वास्थ्य व सुरक्षा का ख्याल रखता है। इसने आपके सामान की डिलीवरी का तरीका अस्थायी रूप से बदलकर सुरक्षा के अतिरिक्त उपाय किए हैं। नई प्रक्रिया में क्षेत्रीय नियम व सोशल डिस्टैंसिंग का पालन करते हुए, डिलीवरी सहयोगी आपका पैकेज आपके दरवाजे पर रख देगा और 2 मीटर की दूरी बनाकर रखेगा। यदि दरवाजे पर स्थान सीमित है, तो 2 मीटर की दूरी बनाए हुए, सहयोगी पैकेज को ग्राहक द्वारा बताये गए किसी अन्य स्थान पर रखेगा।
  3. भ्रांति: ‘‘लाॅकडाऊन के दौरान डिलीवरी सहयोगी उचित अनुमति के बिना काम कर रहे हैं’’
    सच्चाई: लाॅकडाऊन के दौरान भारत सरकार ने ई-काॅमर्स कंपनियों, जैसे अमेज़न को आवश्यक सामग्री की आपूर्ति करने की अनुमति दे दी है। इसका पालन करते हुए स्थानीय अधिकारियों ने डिलीवरी सहयोगियों को सीमित पास जारी करने की प्रक्रिया तेज कर दी है, जिससे वो किसी भी जमीनी समस्या के बिना ग्राहकों के आॅर्डर पहुंचा रहे हैं।
  4. भ्रांति: ‘‘लाॅकडाऊन के दौरान मेरे दरवाजे पर सामान बदलना/वापस करना ठीक है’’
    सोशल डिस्टैंसिंग का पालन करने एवं अतिरिक्त सावधानी बरतने के लिए अमेज़न ने ऐसी प्रक्रियाएं अस्थायी रूप से बंद कर दी हैं, जिनमें ग्राहक के दरवाजे पर संलग्नता या इंटरैक्शन की जरूरत पड़े।
  5. भ्रांति: आॅनलाईन डिलीवरी सहयोगी भीड़ वाले व अस्वच्छ कार्यस्थलों पर काम करते हैं’’
    सच्चाई: स्थानीय अधिकारियों एवं विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) के दिशानिर्देश के अनुरूप, अमेज़न ने सभी स्थानों की सफाई करने की प्रक्रिया व तीव्रता को बहुत बढ़ा दिया है। दरवाजे के हैंडल, हैंड रेल, टच स्क्रीन, स्कैनर एवं अन्य सतहों को बार-बार एवं नियमित तौर पर सैनिटाईज़ किया जाता है। वर्क स्टेशंस को नियमित तौर पर साफ किया जाता है और डिसइन्फेक्ट किया जाता है। हर कोई एक दूसरे से सुरक्षित दूरी बनाकर रखता है। अमेज़न अपने सहयोगियों के बीच नियमित संचार द्वारा जागरुकता बढ़ा रहा है। यह उन्हें कम से कम 20 सेकंड तक साबुन व पानी से बार बार हाथ धोने का महत्व समझाता है।
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *