सीबीएसई द्वारा पाठ्यक्रम कम किए जाने का विरोध किया एसोसिएशन ने

सीबीएसई द्वारा पाठ्यक्रम कम किए जाने का विरोध एसोसिएशन

देहरादून : अनुसूचित जाति जनजाति शिक्षक एसोसिएशन उत्तराखंड के प्रांतीय अध्यक्ष संजय भाटिया एवं प्रांतीय महामंत्री जितेंद्र सिंह बुटोइया ने भारत के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री एवं मानव संसाधन विकास मंत्री को ज्ञापन प्रेषित कर सीबीएसई (बोर्ड) द्वारा विद्यालयी शिक्षा में पाठ्यक्रम को कम किए जाने का विरोध किया है । उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से आम नागरिकों से जुड़े हुए पाठ्यक्रम को कम किया गया है उससे विद्यालय शिक्षा के पश्चात छात्र छात्राओं को वह अवसर प्राप्त नहीं हो पाएंगे जो कि इस समय उनको मिल सकते हैं । उन्होंने कहा कि इसमें प्रजातांत्रिक अधिकार, लिंग ,जाति, धर्म, लोकतंत्र के लिए चुनौती, संघवाद, नागरिकता, राष्ट्रवाद, लोकतंत्र एवं विविधता, धर्मनिरपेक्षता आदि जैसे महत्वपूर्ण विषयों को कम किया गया है, जो आम जीवन में बहुत ही आवश्यक है। साथ ही गरीब, मजदूर व किसानों के बच्चे जो विद्यालय शिक्षा के पश्चात उच्च शिक्षा में नहीं पहुंच पाते हैं या उनके सामने पारिवारिक समस्याएं होती हैं वह सब इन विषयों से अछूते रह जाएंगे । अच्छे नागरिक बनने के लिए अपने अधिकार और कर्तव्यों को जानना अति आवश्यक है। सामाजिक जीवन में लोकतांत्रिक मूल्य स्थापित होना अति आवश्यक है और इन सब विषयों को कम कर संविधान व लोकतंत्र कहीं ना कहीं कमजोर हो रहा है। युवाओं से वह अवसर छीन लिया गया है , जिसमें वह भविष्य के प्रति अपने आप को तैयार करता है। एस सी एस टी शिक्षक एसोसिएशन उत्तराखंड का विशेष आग्रह है कि देश के अच्छे नागरिक बनाने के लिए जो कुछ भी उचित हो चाहे पाठ्यक्रम में इनको शामिल करना हो वह किया जाना चाहिए।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *