हिमाचल की संस्था न्यू लाइफ लाइन ने केंद्रीय मंत्री श्री रामदास आठवले को दिल्ली में ज्ञापन दिया

देहरादून : (दिल्ली) मे रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के समान समारोहों मे हिमाचल प्रदेश से न्यू लाइफ लाइन संस्था को भी आमंत्रित किया गया था जिसमें संस्था का एक दल इस सम्मान समारोह मे पहुंचा।
इस सम्मान समारोह मे संस्था ने हिमाचल प्रदेश के आम लोगों को लेकर मंत्री जी को ज्ञापन सौंपा। जिसमें पुरानी पेंशन योजना को दुबारा बहाल करने, श्री लाल बहादुर शास्त्री मेडिकल कॉलेज मे कर्मचारियों के साथ हो रहे शोषण हेतु एवं आयुष्मान कार्ड मे कुछ विशेष बीमारियो के लिए सहायता राशि मे वृद्धि हेतु ज्ञापन सौंपा गया।

मीडिया से बात करते हुए संस्था के संस्थापक डॉ आनंद कागरा ने बताया कि संस्था ने हिमाचल प्रदेश एवं सम्पूर्ण भारत की आम जनता के मुद्दों को मंत्री जी को अवगत कराया है जिसमें पुरानी पेंशन भारतीय कानून अधिनियम 1871 के तहत, हर कर्मचारी का अधिकार है जिसको 2004 के बाद बंद कर दिया गया था परंतु कुछ विभागों मे ये अभी भी लागू हैं। हमारी सरकार से विनती है कि जिस कानून के व्यवस्था से पुरानी पेंशन कुछ विभागों को मिल रही है। उसी कानून व्यवस्था से सभी कर्मचारियों को मिलनी चाहिए।

  1. श्री लालबहादुर शास्त्री मेडिकल कॉलेज मंडी हिमाचल प्रदेश मे आउट सोर्स कर्मचारियों का बहुत ही कायदे- कानून के साथ शोषण किया जा रहा है। यहा पर कर्मचारियों को 6500 रुपये से 7500 रुपये प्रति माह वेतन दिया जाता है। जिससे इन कर्मचारियों का जीवन यापन करना बहुत ही कठिन है। आज कल के समय मे ये राशि बहुत ही कम है। कुछ कर्मचारी किराया के घर मे रहते हैं, कुछ कर्मचारी दूर दराज के इलाक़ों से बस के माध्यम से आते हैं जिससे कि इनके वेतन का काफी हिसा खत्म हो जाता है। श्रीमान जी देश मे बढ़ती हुई मँहगाई ने सभी की कमर तोड़ रखी है। और इस सब के बीच इतने कम वेतन मे घर का गुजर – बसर करना नामुमकिन है। बच्चों की पढ़ाई, घर का बिज़ली बिल, खाने का समान, रसोई गैस, और अगर घर का कोई सदस्य बीमार हो जाए तो उसका खर्च। जो कि इस राशि मे पूरा नहीं हो पाता है।
    आप से निवेदन कि कर्मचारियों को न्यूनतम वेतन 12000 से 15000 तक मिलना चाहिए। और सभी कर्मचारियों को नियमित किया जाना चाहिए जिससे कि सभी कर्मचारियों का जीवन सुरक्षित हो सके सभी कर्मचरियों का घर अच्छे से चल सके

3.भारत सरकार द्वारा चलाए गए आयुष्मान कार्ड जिसमें कि बीमारी मे किसी का भी इलाज 5 लाख तक हो जाता है। परंतु कुछ बीमारियाँ ऐसी है जिसमें 5 लाख से अधिक खर्चा हो जाता है। जिसके बाद पीड़ित व्यक्ती इलाज के लिए या तो किसी से कर्जा लेता है या फिर जिंदगी से जंग हार जाता है।
माननीय महोदय जी हम हिमाचल मे एक छोटी सी संस्था चलते हैं जिससे गरीब लोगों को हॉस्पिटल इलाज के लिए अर्थिक सहायता की जाती है परंतु कुछ मामलों मे खर्च बहुत अधिक होने के कर्ण हमारी संस्था और हम कुछ नहीं कर पाते जिससे हमे बहुत दुख होता है।
इसी विषय मे कुछ बीमारियाँ है जेसे कि 1. पार्किसंस ,2. मस्कुलर डिस्ट्रांफी, 3. थैलीसिमिया, 4. केंसर रोग, 5. किडनी की बीमारी, इत्यादि। इन बीमारियो के लिए आयुष्मान कार्ड मे सहायता राशि की लिमिट 5 लाख से बढ़ा कर 10 लाख करने की कृपया करे।

इस बैठक मे New Life Line संस्थापक डॉ आनंद कागरा, प्रदेश उपाध्यक्ष पंकज ठाकुर उपस्थित रहे।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *