आयुर्वेदिक कॉलेजों में फीस वृद्धि मामले में कांग्रेस ने लगाए दो मंत्रियों गंभीर आरोप

देहरादून। आयुर्वेदिक छात्रों के आंदोलन को कांग्रेस ने समर्थन दिया है। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय सचिव प्रकाश जोशी ने सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं। प्रकाश जोशी ने कहा है कि निजी आयुष कॉलेज और शासन की सांठगांठ से सभी नियमों को ताक पर रखकर निजी कॉलेजों ने फीस में तीन गुना वृद्धि की है। कांग्रेस विरोध कर रहे छात्रों के साथ है। प्रकाश जोशी ने सरकार पर आरोप लगाया है कि सरकार एचआरडी मिनिस्टर रमेश पोखरियाल निशंक और हरक सिंह रावत के दबाव में काम कर रही है इसी लिये फीस को बढ़ाया गया है। हाईकोर्ट द्वारा रोक लगाए जाने के बाद भी सरकार कोर्ट के आदेशों का पालन नहीं कर रही है। प्रकाश जोशी ने सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि प्रदेश के 13 निजी विद्यालयों में एक कॉलेज एचआरडी मिनिस्टर रमेश पोखरियाल निशंक और दूसरा हरक सिंह रावत का है, जबकि अन्य कॉलेज शिक्षा माफिया के हैं। शासन और कॉलेज मालिकों द्वारा साठगांठ कर आयुर्वेदिक पढ़ाई के फीस में इजाफा किया गया है। जोशी ने कहा कि प्रदेश के गरीब छात्र पहले 80 हजार रुपए प्रतिवर्ष फीस देकर आयुर्वेद की पढ़ाई करते थे, लेकिन अब फीस बढ़ाकर 2.15 लाख प्रति वर्ष कर दी गई है, जो छात्रों के परिवार पर भारी पड़ रही है। ऐसे में छात्रों का आंदोलन करना जायज है। उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट द्वारा निजी कॉलेज द्वारा बढ़ाई गई फीस पर रोक लगाए जाने के बाद भी निजी कॉलेज बढ़ाई हुई फीस को ले रहे हैं। हाईकोर्ट ने सरकार को निर्देशित भी किया था कि बढ़ी फीस पर रोक लगाई जाए। इसके बाद भी सरकार हाईकोर्ट के आदेशों का पालन नहीं कर रही है। ऐसे में उत्तराखंड पहला ऐसा प्रदेश है जो हाईकोर्ट के आदेशों तक का पालन तक नहीं कर रहा है। उन्होंने जल्द फीस वृद्धि वापस लेने की मांग की है।
/

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *