एक सुनीयोजित षड़यंत्र के तहत चलाया जा रहा है अभियान

रुद्रप्रयाग। राज्य निर्माण के बाद 17 सालों तक बाहरी जनप्रतिनिधियों का आधिपत्य रहा और 2017 के विधानसभा चुनाव में रुद्रप्रयाग विधानसभा क्षेत्र की जनता ने अपना विधायक चुना, जिससे बाहरी जनप्रतिनिधियों का आधिपत्य समाप्त होने से हतोसाहित बाहरी जनप्रतिनिधि रुद्रप्रयाग के विकास में एक सुनीयोजित तरीके से षडयंत्र रचकर रुद्रप्रयाग के विकास में व्यधान पैदा करने का प्रयास कर रहे हैं। राज्य की 70 विधानसभाओं में रुद्रप्रयाग एक ऐसी विधानसभा है, जिसका नेतृत्व 17 सालों तक बाहरी लोगों ने किया और विकास से अछूता रहने के बाद आज रुद्रप्रयाग का विकास 70 विधानसभाओं में सबसे आगे चल रहा है, जिससे बाहरी लोग बौखलाकर फिर से रुद्रप्रयाग विधानसभा में नजर गढ़ाये हुये हैं। जिला मुख्यालय में पत्रकारों से वार्ता करते हुये विधायक भरत सिंह चैधरी ने कहा कि राज्य निर्माण के बाद 17 सालों तक बाहरी लोगों की बादशाही रहने के बाद वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में यहां की जनता ने बाहरी लोगों को नकारते हुये अपने बीच के व्यक्ति को विधानसभा में भेजा, जिससे बौखलाये ये लोग रुद्रप्रयाग के विकास में अवरोध पैदा कर एक षडयंत्र के तहत कुच्रक की राजनीति रच रहे हैं। उन्होंने कहा कि ढाई वर्ष के कार्यकाल में रुद्रप्रयाग विधानसभा में ऐतिहासिक विकास कार्य हुये। कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में शासकीय, अशासकीय, प्राइवेट एवं सरकारी काॅलेजों मंे ई-लर्निंग शिक्षा की शुरूआत करने पर राज्यपाल ने सम्मानित किया। छात्रों के लिये फर्नीचर, कम्प्यूटर, शौचालय एवं भवनों का निर्माण, 40 से अधिक विद्यालयों में खेल मैदान, मरम्मतीकरण, चारदिवारी और शिक्षा की बेहतरी के लिये प्रतियोगी परीक्षाओं एनडीए की परीक्षा शुरू की और शीघ्र ही विद्यालयों में प्रतियोगी परीक्षाओं का आयोजन करवाया जायेगा। कोटेश्वर में शंकराचार्य अस्पताल का अधिग्रहण कर सुविधायुक्त चिकित्सालय शीघ्र ही शुभारंभ किया जायेगा। जिला चिकित्सालय में 22 लाख की लागत लैप्रोस्कोपिक मशीन उपलब्ध कराई गई, जिससे चमोली, रुद्रप्रयाग एवं पौड़ी की जनता को सीधा लाभ मिला है। पिछले कई सालों से जिला चिकित्सालय में चिकित्सक के पद रिक्त होने से 22 पदों के सापेक्ष 22 पदों पर चिकित्सकों की तैनाती की। भाजपा विधायक भरत चैधरी ने कहा कि रुद्रप्रयाग विधानसभा में डेढ़ सौ करोड़ से अधिक सड़कों का निर्माण किया जा रहा है और कई सड़कों को स्वीकृति दिलाई गई है। पिछले दस सालों से बहुप्रतिष्ठित भरदार पेयजल निर्माण कार्य शुरू करवाया। चिरबिटिया में हाॅफ मैराथन आयोजन कराकर पर्यटन बढ़ावा देने का प्रयास किया। पपड़ासू झील को विकसित कराने के साथ हरियाली देवी मेले को मेले का दर्जा दिया गया। विधानसभा की सभी ग्राम पंचायतों को विद्युत संयोजन से जोड़ने के साथ प्रत्येक ग्राम सभा सोलर लाइटें लगवाई जा रही हैं। क्षेत्रीय मेलों को बढ़ावा देने के लिये बच्छणस्यूं, हरियाली, सिलगढ़, जखोली महोत्सव आयोजित किये गये। सूर्यप्रयाग में घाटों का शीघ्र ही निर्माण शुरू होने जा रहा है। किसानों को सस्ते दर पर उपकरण उपलब्ध कराने के साथ महिला मंगल दलों को स्वालंभी बनाया जा रहा है। दिगधार में सैनिक स्कूल की स्वीकृति मिल चुकी है। 6 सिग्मा की शीघ्र ही जनपद में स्थापना होने जा रही है। कोठगी में नर्सिंग काॅलेज सहित विधानसभा में ढाई साल में करोड़ों के विकास कार्यों की स्वीकृति करवाई गई। 

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *