किसानों के हित में सदैव तत्पर रहूंगाः रविन्द्र सिंह आनंद

देहरादून। किसानों एवं मंडी आढ़तियों के आग्रह पर पूर्व मंडी समिति अध्यक्ष एवं प्रदेश प्रवक्ता आम आदमी पार्टी रविन्द्र सिंह आनन्द ने किसानों एवं आढ़तियों की समस्याएं सुनी, किसानों एवं आढ़तीयों द्वारा श्री आनंद को अवगत कराया गया की मंडी समिति द्वारा कोरोना वायरस के चलते बहुत से ऐसे नियम कानून निकाले जा रहे हैं जिसके चलते किसानों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है जैसे कल से मंडी समिति को पूरी तरह से लॉक किए जाने का फरमान समिति द्वारा जारी किया गया है। जिसके चलते किसानों कि उत्पाद जो कि दूरदराज क्षेत्रों से मंडी समिति आते है, या तो रास्ते में ही खराब हो जाऐंगे या फिर खेत में पड़े पड़े सड़ जाऐंगे। इस प्रकार किसानों के नुकसान की भरपाई कौन करेगा वहीं दूसरी ओर आम जनता को फल सब्जी ना मिलने के कारण दुगनी चौगुनी कीमत पर फल सब्जी खरीदने को मजबूर होना होगा। आढ़तियों के पास पड़े स्टॉक का क्या होगा इससे उन्हें भारी आर्थिक हानि होगी । साथ ही आढतियो पर यह दबाव भी बनाया जा रहा है कि वे अपने खर्चे पर अपना टेस्ट करवाएं जबकि आढ़तियों और उनके स्टाफ का खर्चा 1 करोड रुपए से अधिक है इस मोटी रकम को कैसे वहन किया जाएगा। वही समय-समय पर मंडी समिति द्वारा किसानों एवं आढ़तियां का उत्पीड़न किया जा रहा है पिछले दिनों आकारण लाठीचार्ज कराया गया जोकि अत्यंत निंदनीय है। इस पर मंडी समिति के पूर्व अध्यक्ष रविंद्र आनंदभड़ क उठे और उन्होंने किसानों एवं आढ़तियों को हर प्रकार से मदद करने और उनके साथ खड़े होने की बात कही उन्होंने कहा कि वह मंडी समिति सचिव एवं जिलाधिकारी महोदय से वार्ता करेंगे यदि फिर भी समिति द्वारा उत्पीड़न जारी रहा तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। उन्होंने यहां पर मंडी समिति की एक और मनमानी पर भी चर्चा करते हुए कहिा कि हाल ही मेें मंडी समिति ने अतिक्रमण की आड़ में किसानों के खड़े ट्रकों पर आढ़तियों को घ्25000 के चालान का नोटिस भी भेजा है जो कइस समय में अढतियों की कमर तोड़ने वाला नोटिस है इसकी भी पूर्व मंडी समिति अध्यक्ष घोर निंदा करते है। इस मौके पर किसान महादेव जी सिमयारी गांव ,गोकुल भवान, गंभीर सिंह क्यारा, वीर सिंह, लामकंदे आड़ती गगन सेठी जगदीश माकन आदेश चौहान, जितेंद्र विजन, जगमोहन आनंद आदि मौजूद थे।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *