कोटेश्वर चिकित्सालय को आर्किटेक्ट से कराया जायेगा प्लान

रुद्रप्रयाग। जिला कार्यालय सभागार में जनपद प्रभारी सचिव डाॅ पंकज पाण्डे ने जिलास्तरीय अधिकारियों द्वारा केन्द्र, राज्य सेक्टर, जिला योजना के तहत किए किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान प्रभारी सचिव डाॅ पंकज पाण्डे ने स्वास्थ्य विभाग के एलोपैथिक, होम्योपैथिक व आयुर्वेदिक विभाग के अधिकारियों को जनपद में कार्यरत डाॅक्टरों का बेहतर प्रयोग करने के निर्देश दिए। कहा कि केदारनाथ यात्रा में लाखों श्रद्धालु हर वर्ष आते हंै तथा उनके द्वारा पैदल यात्रा की जाती है। यात्रा से वापस आने के दौरान किसी पड़ाव पर आयुर्वेदिक विभाग द्वारा श्रद्धालुओं के लिए स्पा, मसाज आदि की सुविधा होनी चाहिए, जहां श्रद्धालु मसाज आदि कराकर रिलैक्स फील कर सके।  जनपद में कुपोषण की रोकथाम के लिये स्वास्थ्य व बाल विकास विभाग को आपसी सहयोग से कार्य करने, समय-समय पर बच्चों व उनके अभिभावकों की काउन्सिलिंग कर हाईजिन, संतुलित आहार के बारे में जानकारी देने के निर्देश दिए। कहा कि हम काउन्सिलिंग के माध्यम से लोगों को कुपोषण से बचाकर बेहतर स्वास्थ्य के लिए जागरूक करने का कार्य कर सकते है। जनपद में उद्योग, खादी ग्रामोद्योग विभाग द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में युवाओं को दिए जा रहे कौशल विकास प्रशिक्षण के संबंध में मानकानुसार प्रशिक्षण देने की बात जनपद प्रभारी सचिव ने कही। उन्होंने प्रशिक्षण के लिये देहरादून के कौशल विकास केन्द्रों से समन्वय कर स्टैण्डर्डाइजड व सर्टिफाइड प्रशिक्षण युवाओं को देने की बात कही। देहरादून के केन्द्रों द्वारा निःशुल्क व सर्टिफाइड कोर्स युवाओं को विभिन्न क्षेत्रों में दिया जाता है।  इसके साथ ही जनपद के सेवायोजन विभाग में पंजीकृत युवाओं को देहरादून, हरिद्वार के रोजगार मेलों मे प्रतिभाग कराने की बात कही।भारी सचिव डाॅ पंकज पाण्डे ने कोटेश्वर अस्पताल का भौतिक निरीक्षण भी किया। उन्होंने कोटेश्वर चिकित्सालय में स्वास्थ्य व्यवस्था पुख्ता बनाने के दृष्टिगत अस्पताल का मास्टर प्लान बनाने के निर्देश दिये और कहा कि अस्पताल को आर्किटेक्ट से प्लान कराया जाए जिससे भविष्य में बेहतर स्वास्थ्य सुविधा आमजन को मिल सके। साथ ही उन्होंने कोटेश्वर चिकित्सालय के लिए प्रस्तावित बजट को शीघ्र पास करवाने का भरोसा भी दिलाया है। उन्हांेने कोटेश्वर चिकित्सालय में स्थान की पर्याप्तता के दृष्टिगत चिकित्सालय भवन में विभिन्न अनुभागों की व्यवस्थाओं, रैंप, पैथोलाॅजी, आवसीय भवन, पार्किंग आदि के लिए मास्टर प्लान बनाने के निर्देश दिए। इस दौरान जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ एसके झां सहित अन्य मौजूद थे। 

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *