जनसंपर्क ही एक ऐसा भरोसेमंद माध्यम है व्यवसाय को स्थापित करने और बचाने का

देहरादून। जब भी कोई व्यक्ति अपना व्यवसाय शुरू करता है तो उसका सबसे बड़ा चौलेंज होता है लोगों तक उस व्यवसाय की जानकारी पहंचाना और वह भी कम खर्च में। इसके लिए उसके बहुत सी बातों का अनुमान लगाना होता है कि जैसे  कि वह कौन सा ऐसा तरीका अपनाए जिससे कि वह कम समय से ज्यादा माध्यमों से लोगों तक पहुँच सके और वह तरीका इतना भरोसे मंद हो कि लोग उसे हाथों हाथ ले लें। यहीं नहीं ऐसे समय में जब कि प्रतिस्पर्धा का जमाना है तो लोग आपकी छवि को भी क्षति पहुंचाने की कोशिश कर सकते है वहां पर भी ऐसा क्या माध्यम है जो अपने काम आ सका है। चाहे वह लोगों के बीच अपने व्यवसाय की छवि को बदलना हो या अपने व्यवसाय को हानि से बचाने के लिए तैयार करना हो, जनसंपर्क हमेशा आपके लिए वह माध्यम है जिस पर लोग भरोसा कर सकते है। पीआर के बारे में बात करते हुए राज कम्युनिकेशन पब्लिक रिलेशन कंपनी के संस्थापक राज छाबड़ा कहते हैं कि, “पीआर क्षेत्र बहुत विशाल है। कोई भी कंपनी जब एक निश्चित संकट से गुजर रही होती है, तो उसके लिए विशेष रूप से पीआर का समर्थन बहुत आवश्यक हो जाता है। किसी भी कंपनी को सफलता हासिल करने में कई

कई बार कई साल लग जाते हैं, लेकिन एक पल ही इन सालों की मेहनत और नाम को बर्बाद कर देता है। ऐसे समय में पीआर ही है जो किसी कंपनी को उसके नुकसान से बाहर निकालने में मदद करता है। वर्तमान में मीडिया ने दुनिया भर में अपनी जड़ें फैला ली हैं। एक शहर से दूसरे शहर तक पलक झपकते ही समाचारों का आदान-प्रदान होता है। जब कोई ब्रांड देश के एक हिस्से में नकारात्मक प्रचार का सामना करता है तो यह दुनिया के हर हिस्से में जंगल की आग की तरह फैलता है। यह पीआर है जो क्रमिक रूप से इस नकारात्मक प्रचार पर पैनी नजर रखने की क्षमता रखता है, मीडिया से सामंजस्य बनाकर सकारात्मक जानकारी देता है।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *