जिलाधिकारी ने किया चाका गांव का निरीक्षण

रुद्रप्रयाग। विकासखण्ड अगस्त्यमुनि के चाका में बादल फटने की घटना के बाद जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने गांव का निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि घटना से दो मकान पूर्णतः क्षतिग्रस्त, एक भंैस, तीन पैदल मार्ग, दो पुल और बीस खेतों को नुकसान पहुंचा है। जिन दो परिवारों के मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं, उन परिवारों के लिये प्रशासन की ओर से स्कूल में व्यवस्था की गई थी, मगर वे लोग अपने रिश्तेदारों के यहां रह रहे हंै। प्रशासन की ओर से उन्हें प्रतिमाह चार हजार की राशि छः माह तक दी जायेगी।  इसके साथ ही आपदा विभाग द्वारा प्रभावित चार परिवारों को किचन सेट, गैस स्टोव व कम्बल दिए गए। पश्चिमी चाका में दो परिवार चंद्र शेखर एवं विशाल मानी के मकान को खतरा बना है। इस संबंध में जिलाधिकारी ने बताया कि भूवैज्ञानिकों ने गांव का सर्वे किया है। इन दो परिवारों के सदस्य तक्षशिला जूनियर हाईस्कूल में रह रहे हैं। जहां पर प्रशासन द्वारा उनके लिये सोने के लिये बीस चारपाई बिस्तर सहित व भोजन के लिए दो पीआरडी जवान लगाए गए हैं, जिनके द्वारा स्कूल में ही परिवार के सभी लोगों के लिये भोजन बनाकर खिलाया जा रहा है। बादल फटने से पश्चिमी चाका में पुल व पैदल मार्ग की क्षति का मूल्यांकन विभागों द्वारा कर लिया गया है और मौके पर कार्य चल रहा है। जिन परिवारों के खेतों को नुकसान हुआ है, उनका मुआवजा भी तहसील द्वारा बना दिया गया है, जो शीघ्र ही वितरित कर दिया जायेगा। इस अवसर पर उपजिलाधिकारी जखोली ऐनएस नगन्याल, ईई सिंचाई पीएस बिष्ट, आपदा अधिकारी हरीश चंद्र, तहसीलदार किशन गिरी सहित अन्य अधिकारी व ग्रामीण उपस्थित थे।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *