दून में मॉनसून दस किमी की दौड़ आयोजित

देहरादून। थ्रिल जोन व नेशनल इंस्टिटड्ढूट फॉर द विजूअली हैंडीकैप्ड (एनआईईपीवीडी) के सहयोग से आज दून मॉनसून दौड़ का आयोजन किया गया। मॉनसून रन को नेशनल इंस्टिटड्ढूट फॉर द विजूअली हैंडीकैप्ड के निदेशक नचिकेता राउत ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।           इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में डीजी पुलिस लॉ एंड ऑर्डर अशोक कुमार उपस्थित रहे। मानसून रन एनआईईपीवीडी से शुरू हुई और कैनाल रोड से हेलिपैड तक जाकर वापस स्टार्टिंग पॉइंट पर समाप्त हुई। 10ज्ञ और 5ज्ञ रन में 300 से अधिक उत्साही लोगों ने भाग लिया। श्रन फॉर इनक्लूसिव एक्सेप्टेन्सश् के मोटिव के साथ, दून मानसून रन को 3 श्रेणियों में विभाजित किया गया जिसमे 10  किलोमीटर, 5  किलोमीटर और कपल व सोल मेट रन शामिल रहीं।        कई श्रेणियों में विजेता घोषित किये गए जिनमेऋ महिला वर्ग 5ज्ञ रन में सुप्रिया पाल ने पहला स्तन और समिक्षा ने दूसरा जबकि सोनिया पाल ने तीसरा स्थान हासिल किया। पुरुष वर्ग 5ज्ञ रन में, ध्रुव को पहले स्थान से सम्मानित किया गया, संचित ने दूसरा स्थान हासिल किया, जबकि सौरव रावत तीसरे स्थान पर रहे। इसी तरह पुरुष वर्ग 10ज्ञ रन में, जितेंद्र गुप्ता को पहले स्थान से नवाजा गया, जबकि प्रणव और सुरेंद्र मलिक क्रमशः दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे। फीमेल कैटेगरी 10ज्ञ रन में, अर्का ने पहला स्थान हासिल किया, जबकि दूसरा और तीसरा स्थान क्रमशः रीता शर्मा और शालिनी अग्रवाल ने हासिल किया।डीजी पुलिस लॉ एंड ऑर्डर अशोक कुमार द्वारा विजेताओं को पुरस्कार दिए गए।एनआईईपीवीडी से दृष्टिबाधित ने भी मानसून रन में भाग लिया। उनकी मदद के लिए उनके साथ-साथ रूट पर गाइड रनर्स ने भी दौड़ लगायी। इस अवसर पर बोलते हुए, आयोजक पीसी कुशवाहा ने कहा, फ्देहरादून में मानसून की शुरुआत के साथ चलना और दौड़ना जैसी शारीरिक गतिविधियाँ करना एक मजेदार एक्टिविटी बन जाती है। दून मानसून 10ज्ञ रन न केवल मानसून की शुरुआत का जश्न मनाने के लिए आयोजित की गई, बल्कि दोस्तों और परिवारों को एक साथ दौड़ में हिस्सा लेने के लिए भी इसका आयोजन किया गया।य्आगे बताते हुए कुशवाहा ने कहा, ष्कपल रन सभी जोड़ों के लिए आयोजित की गई थी, चाहे वह पति-पत्नी या प्रेमी-प्रेमिका हो, जबकि सोल मेट रन में कोई भी जोड़ी अपने लिंग और आपसी रिश्ते को नजर अंदाज करते हुए, जैसे भाई-बहन, दोस्त, बेटा-बेटी, माँ-पिता, आदि ने भाग लिया।नरेश सिंह नायल मैराथन के तकनीकी निदेशक रहे। रन को नेशनल इंस्टीटड्ढूट फॉर द विजुअली हैंडीकैप्ड, क्लिफ क्लाइंबर, ओप्रेसस , ब्रावो चार्ली, गोल्ड स्टोन होटल एंड रिसॉर्ट्स और देहरादून रनर क्लब द्वारा समर्थित किया गया।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *