मोथरोवाला में विष्णुपुरम लेन नंबर-1 में अवैध गौशाला बनी परेशानी का सबब

देहरादून। नगर निगम देहरादून के वार्ड नंबर 85 स्थित लेन नंबर-1 विष्णुपुरम मोथरोवाला में कालोनी के बीच में पिछले कुछ महीनों से अवैध गौशाला/डेयरी का संचालन हो रहा है। इस अवैध गौशाला का गोबर लोगों के घरों के बीच में डाले जाने से स्थानीय लोगों खासा दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। जिस स्थान पर यह गौशाला/डेयरी है वहां पर गंदे पानी की निकासी की कोई व्यवस्था नहीं है, बारिश में वहां पर काफी पानी एकत्रित हो जाता और उसमें यह गोबर घुल जाता है, जिससे कि परेशानी और भी बढ़ जाती है।
यह पानी कालोनी को जाने वाली सड़क पर भी जमा हो जाता है, जिस कारण बारिश में लोगों के लिए वहां से निकलना मुश्किल हो जाता है। इस स्थान पर कई दिनों तक पानी जमा रहता है। पानी जमा रहने से मच्छर पैदा हो रहे हैं, जिस कारण डेंगू, मलेरिया, स्क्रबटाई पिस व अन्य संक्रामक बीमारी फैलने का खतरा बना हुआ है। स्थानीय लोग इसकी शिकायत कई बार नगरनिगम प्रशासन से कर चुके हैं लेकिन नगरनिगम द्वारा इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है, जिस कारण लोगों में रोष व्याप्त है। स्थानीय लोगों का कहना है कि यहां पर इस अवैध गौशाला/डेयरी का संचालन शीघ्र बंद किया जाए। स्थानीय लोगों का कहना है कि एक ओर सरकार और नगरनिगम द्वारा कहा जा रहा है कि डेंगू के देखते हुए घरों में और आस-पास पानी जमा नहीं मिलना चाहिए नहीं तो चालान की कार्रवाही की जाएगी वहीं इस स्थान पर कई दिनों तक पानी जमा रहता है लेकिन नगरनिगम प्रशासन गहरी नींद से जाग नहीं रहा है। अवैध गौशाला के खिलाफ और लोगों के आवासीय भवनों के बीच में गोबर डालने वालों के खिलाफ नगरनिगम द्वारा शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं की जा रही है। स्थानीय लोगों का कहना है कि इस स्थान पर राजेंद्र प्रसाद कोठियाल के द्वारा अवैध रूप से गौशाला बनाकर डेयरी संचालित की जा रही है, इस गौशाला में 10-12 गाय, बछिया व बछड़े पाले जा रहे हैं। उनके घरों की खिड़कियों के सामने गोबर के ढेर लगा दिए जाते हैं, डेयरी से निकलने वाले गंदे पानी की निकासी की कोई व्यवस्था नहीं है, जिस कारण यहां पर कीचड़ रहता है। गोबर और कीचड़ की दुर्गंध के चलते आस-पास के लोगों के लिए घरों में रहना मुश्किल हो रहा है। इस संबंध में नगर आयुक्त को एक ज्ञापन कालोनीवासियों द्वारा भेजा गया है।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *