यूक्रेन से उत्तराखण्ड के 15 छात्र-छात्राएं सुरक्षित लौटे

  • पांच छात्राएं जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहंुची और दस छात्र नई दिल्ली उतरे
  • अभी भी प्रदेश के सैकड़ों छात्र यूक्रेन में अलग-अलग शहरों में फंसे
  • नई दिल्ली में उत्तराखण्ड के अपर स्थानिक आयुक्त अजय मिश्रा ने की अगवानी

डोईवाला। यूक्रेन में रूस की ओर से लगातार हमले किए जा रहे हैं। जिस कारण वहां  हालात भयावह बने हुए हैं। चारों और डराने वाली तस्वीरें सामने आ रही हैं। यूक्रेन में उत्तराखण्ड के सैकड़ों छात्र फंसे हैं। जिस कारण उनके परिजनों में भी भय व चिंता का माहौल बढ़ रहा है। हालांकि केंद्र और राज्य सरकार की ओर से उत्तराखण्ड के छात्रों को वापस लाने के प्रयास किए जा रहे हैं। कुछ छात्र वापस भी आए हैं। कुछ को लाने की कोशिशे चल रही हैं।
रविवार को उत्तराखंड की पांच छात्राएं यूक्रेन से सुरक्षित लौट आईं। रविवार को वह देहरादून के जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर पहुंचीं। इनमें दो छात्र ऋषिकेश, एक कीर्तिनगर, एक टिहरी और एक देहरादून निवासी है।  वहीं नई दिल्ली में उत्तराखण्ड के यूक्रेन में पढ़ रहे दस छात्र रविवार को सकुशल वापस आए।
जो पांच छात्राएं रविवार को जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंची उनमें निशा ग्रेवाल (उम्र 20 वर्ष) पुत्री राजकुमार, निवासी श्यामपुर ऋषिकेश
 आयुषी राय (उम्र 22 वर्ष) पुत्री अजय राय,निवासी आवास-विकास ऋषिकेश, अदिति कंडारी (उम्र 22 वर्ष) पुत्री दरम्यान दरम्यान, निवासी बौराड़ी नई टिहरी,आकांक्षा (उम्र 21 वर्ष) पुत्री ईश्वर प्रसाद, निवासी कीर्तिनगर, विभूति भारद्वाज प्रगति विहार देहरादून शामिल हैं।
अदनान, आशुतोष व खुशी सहित दस छात्र दिल्ली पहुंचे
देहरादून। यूक्रेन से लौटे उत्तराखण्ड के तीन छात्रें आशुतोष पाल, अदनान व खुशी सिंह का नई दिल्ली में उत्तराखण्ड के अपर स्थानिक आयुत्तफ़ अजय मिश्रा ने स्वागत किया। इस अवसर पर छात्रें के अभिभावक और राज्य के सहायक प्रोटोकाल अधिकारी मनोज जोशी व दीपक चमोली भी उपस्थित थे। उत्तराखण्ड सरकार यूक्रेन में निवासरत उत्तराखंड के सभी छात्रों की सुरक्षित वापसी के लिये भारत सरकार के लगातार सम्पर्क में है। विदेश मंत्रलय द्वारा यूक्रेन में रह रहे भारतीयों की सुरक्षित वापसी की व्यवस्था की जा रही है। वहीं देर शाम यूक्रेन से रूड़की के जिशान, रानीखेत की प्रियंका, काशीपुर की कादंबनी, कोटद्वार की पायल पंवार, ऊधमसिंह नगर के ललित कुमार, हल्द्वानी के विजय चौहान, खटीमा के तुषार सिंह भी यूक्रेन से दिल्ली पहुंचे। जिनकी अगवानी उत्तराखण्ड के अपर स्थानिक आयुक्त अजय मिश्रा ने की। इस मौके पर मिश्रा की टीम में  वरिष्ठ प्रंबधन अधिकारी रंजन मिश्रा व सहायक प्रोटोकाल अधिकारी दीपक चमोली भी मौजूद रहे।  वहीं उत्तराखण्ड के कई अन्य जनपदों के छात्र भी अभी यूक्रेन में हैं। जिन्हें सुरक्षित भारत लाने के प्रयास केंद्र और राज्य सरकार की आरे से जारी है। अभी तक उत्तराखण्ड शासन की ओर से 226 लोगों की सूची विदेश मंत्रालय को सौंपी जा चुकी है। उम्मीद जताई जा रही है कि जल्दी ही सभी लोग सकुशल वापस आ जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *